आतंकवादी हाफिज सईद
आतंकवादी हाफिज सईद

लाहौर/दक्षिण भारत। एफएटीएफ में फंसे पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था बुरी तरह चरमरा गई है। लिहाजा आतंकवा​द के खिलाफ दुनिया को कार्रवाई दिखाने के नाम पर उसकी अदालत ने जमात-उद-दावा (जेयूडी) के प्रवक्ता याह्या मुजाहिद को 15 साल की सजा सुनाई है। यह सजा वित्तपोषण के मामले में हुई है।

बता दें कि जेयूडी मुंबई हमले के सरगना हाफिज सईद का संगठन है। दुनियाभर में आतंकवाद के लिए कुख्यात पाकिस्तान दिखावे के नाम पर ऐसी कार्रवाई कर रहा है। याह्या को पिछले महीने ही एक आतंकवाद रोधी अदालत ने आतंकवाद के वित्तपोषण के दो मामलों में 32 साल की सजा सुनाई थी। लेकिन माना जा रहा है कि जब एफएटीएफ से पाकिस्तान को थोड़ी राहत मिल जाएगी तो उच्च न्यायालय में आतंकवादियों को जमानत दे दी जाएगी।

वहीं, बुधवार को ही आतंकवाद रोधी अदालत ने जेयूडी के जफर इकबाल को 15 साल और हाफिज अब्दुल रहमान मक्की को छह महीने की सजा सुनाई थी। अब्दुल रहमान मक्की आतंकवादी हाफिज सईद का रिश्तेदार है। यह अदालत तीन मामलों में इकबाल के लिए 26 साल सजा का ऐलान कर चुकी है।

जेयूडी पाकिस्तान में परोपकार संबंधी कार्यों का दिखावा करता है, असल में यह आतंकवादी संगठन है ​जो लश्कर का मुखौटा संगठन माना जाता है। इसके आतंकवादियों ने मुंबई में 26/11 हमला किया था जिसमें 166 लोगों की मौत हुई थी। यह कश्मीर में भी आतंकवादी भेजता रहा है।