किम जोंग उन
किम जोंग उन

सियोल/एपी। उत्तर कोरिया ने रविवार को समुद्र में दो संदिग्ध बैलिस्टिक मिसाइलें दागीं। दक्षिण कोरिया ने यह जानकारी देते हुए इसे ऐसे समय में ‘काफी अनुचित’ बताया जब दुनिया कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के संकट से जूझ रही है।

दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ ने बताया कि उत्तर कोरिया के पूर्वी तटीय शहर वोनसान से गुजरती मिसाइलों को रविवार सुबह कोरियाई प्रायद्वीप और जापान के बीच सागर में गिरते देखा गया।

बयान में कहा गया कि मिसाइलों ने अधिकतम 30 किलोमीटर की ऊंचाई से करीब 230 किलोमीटर का सफर तय किया। दक्षिण कोरिया और अमेरिका के खुफिया अधिकारी मिसाइलों के परीक्षण की और जानकारियों का विश्लेषण कर रहे हैं।

सेना ने इन्हें ‘बेहद अनुचित’ बताया है क्योंकि यह ऐसे समय में किया गया जब दुनिया कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से जूझ रही है। उसने उत्तर कोरिया से ऐसी सैन्य कार्रवाई रोकने का अनुरोध किया।

उत्तर कोरिया कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए आक्रामक अभियान चलाता रहा है। उसने बार-बार दावा किया कि उसकी सरजमीं पर संक्रमण का एक भी मामला नहीं है। हालांकि विदेशी विशेषज्ञ इस दावे पर सवाल उठाते रहे हैं।

कई विशेषज्ञों का मानना है कि उत्तर कोरिया में महामारी गंभीर हो सकती है क्योंकि उसके पास चिकित्सा सामग्री का अभाव है तथा उसकी स्वास्थ्य सेवा प्रणाली बेहद खराब है।