पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस
पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस

इस्लामाबाद/भाषा। अमेरिका ने पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) की उड़ानों पर कम-से-कम छह महीने के लिए पाबंदी लगा दी है। यह प्रतिबंध पायलटों के संदिग्ध लाइसेंस का हवाला देते हुए लगाया गया है।

पाकिस्तान पायलटों को फर्जी लाइसेंस दिए जाने की रिपोर्ट के बाद यूरोपीय यूनियन एविएशन सेफ्टी एजेंसी (ईएएसए) ने मंगलवार को अपने 32 सदस्यीय देशों से कामकाज से पाकिस्तान पायलटों को प्रतिबंधित किए जाने का आदेश दिया।

पाकिस्तान में 262 पायलटों को उड़ान की अनुमति नहीं देने के बाद यह कदम उठाया गया। इस बारे में विमानन मंत्री गुलाम सरवर खान ने नेशनल एसेंबली में उनके लाइसेंस को संदिग्ध करार दिया था।

अखबार द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि अमेरिकी प्राधिकरण ने ई-मेल के जरिए राष्ट्रीय एयरलाइन की उड़ानों को प्रतिबंधित करने को अधिसूचित किया। उन्होंने यह भी कहा कि पीआईए को प्राप्त विशेष उड़ान लाइसेंस को भी रद्द किया गया है।

अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि पीआईए में पायलटों के पास संदिग्ध लाइसेंस के मसले को देखते हुए प्रतिबंध लगाया गया है। पीआईए को अमेरिका के लिये 12 सीधी विशेष उड़ानों के परिचालन की अनुमति दी गई थी। इसमें से एयरलाइन ने सात उड़ानों का परिचालन किया।

सूत्रों के अनुसार, शेष पांच उड़ानें के लिये मंजूरी को रद्द कर दिया गया है। पाकिस्तान पहले ही 34 और पीआईए पायलटों के लाइसेंस को निलंबित कर चुका है। इससे पहले, राष्ट्रीय विमानन कंपनी ने फर्जी डिग्री समेत विभिन्न आरोपों में 52 कर्मचारियों की सेवाओं को समाप्त कर दिया था।

संदिग्ध लाइसेंस का मुद्दा कराची में विमान हादसे के बाद शुरूआती जांच से सामने आया। शुरुआती जांच के अनुसार पायलटों और ‘एयर ट्रैफिक कंट्रोल’ के कारण विमान दुर्घटना हुई जिसमें 97 लोग मारे गए।

लाहौर से कराची जा रही घरेलू उड़ान 22 मई को जिन्ना अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के पास रिहायशी इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी।