मेलबर्न/भाषा। वैज्ञानिकों ने दस हजार से अधिक यौगिकों से छह ऐसी दवाओं की पहचान की है जो कोरोना वायरस के इलाज में मदद कर सकती हैं।

जर्नल नेचर में प्रकाशित शोध में नैदानिक परीक्षणों और अन्य यौगिकों में इन पहचान की गई दवाओं के प्रभाव की जांच की गई है।

ऑस्ट्रेलिया में क्वींसलैंड विश्वविद्यालय के प्रोफेसर ल्यूक गुड्डत ने कहा, ‘वर्तमान में इसकी कोई चिकित्सा पद्धति या कोरोना वायरस के लिए कोई प्रभावी उपचार विकल्प नहीं हैं।’

उन्होंने कहा, ‘हमने नैदानिक उपयोग के लिए इन मुख्य यौगिकों का पता लगाने और दोनों प्रयोगशालाओं में नवीनतम कंप्यूटर सॉफ्टवेयर का उपयोग करके यह अनुमान लगाने के वास्ते एक कार्यक्रम शुरू किया है कि ये विभिन्न दवाएं वायरस से कैसे निपट सकती हैं।’

शोधकर्ताओं ने कहा कि इस कार्यक्रम में कोविड-19 वायरस एंजाइम पर प्रमुखता से ध्यान दिया गया जिसे मुख्य ‘प्रोटीज या मेप्रो’ के रूप में जाना जाता है।

उन्होंने कहा कि हजारों दवाओं को परखने के बाद, शोधकर्ताओं ने छह ऐसी दवाओं को पाया जो एंजाइम को रोकने में प्रभावी दिखाई देती हैं।

गुड्डत ने कहा कि हम हृदय रोग, गठिया, स्ट्रोक, एथेरोस्क्लेरोसिस और कैंसर से जुड़े ‘क्लिनिकल ट्रायल’ से मिली महत्वपूर्ण सफलताओं पर भी गौर कर रहे हैं।