डगलस स्टुअर्ट का उपन्यास ‘शग्गी बैन’
डगलस स्टुअर्ट का उपन्यास ‘शग्गी बैन’

लंदन/भाषा। न्यूयॉर्क में बसे स्कॉटलैंड के लेखक डगलस स्टुअर्ट को उनके पहले उपन्यास ‘शग्गी बैन’ के लिए उन्हें 2020 का बुकर पुरस्कार मिला है। ‘शग्गी बैन’ की कहानी में ग्लासगो की पृष्ठभूमि है।

दुबई में बसी भारतीय मूल की लेखिका अवनी दोशी का पहला उपन्यास ‘बर्नंट शुगर’ भी इस श्रेणी में नामित था। कुल छह लोगों के उपन्यास नामित थे।

स्टुअर्ट ने कहा, ‘मुझे विश्वास नहीं हो रहा। शग्गी एक काल्पनिक किताब है लेकिन किताब लिखना मेरे लिए बेहद सेहत बख़्श रहा।’

उन्होंने कहा कि यह किताब उन्होंने अपनी मां का समर्पित की है। 44 वर्षीय लेखक 16 साल के थे जब उनकी मां का निधन अत्यधिक शराब पीने की वजह से हो गया था।

लंदन के ‘रॉयल कॉलेज ऑफ आर्ट इन लंदन’ से स्नातक करने के बाद, ‘फैशन डिजाइन’ में करियर बनाने वह न्यूयॉर्क चले गए थे।

कोरोना वायरस के मद्देनजर ‘बुकर प्राइज 2020’ के समारोह को लंदन के ‘राउंडहाउस’ से प्रसारित किया गया। सभी छह नामित लेखक एक विशेष स्क्रीन के जरिए समारोह में शामिल हुए।

इस मौके पर अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी बुकर पुरस्कार प्राप्त उपन्यासों पर अपने विचार व्यक्त किए।