अमेरिकी ध्वज
अमेरिकी ध्वज

वॉशिंगटन/भाषा। अमेरिकी चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन जीत के आंकड़े 270 के बेहद करीब पहुंच गए हैं, वहीं रिपब्लिकन पार्टी से उनके प्रतिद्वंद्वी डोनाल्ड ट्रंप कानूनी लड़ाई लड़ने के अपने फैसले पर आगे बढ़ गए हैं।

विभिन्न मीडिया संगठनों के अनुमान के अनुसार, बाइडेन को अब जीत के लिए केवल छह से 17 ‘इलेक्टोरल कॉलेज सीट’ ही चाहिए। जबकि ट्रंप ने अभी 214 ‘इलेक्टोरल कॉलेज सीट’ पर जीत हासिल की है।

ट्रंप ने बुधवार देर रात ‘बैटलग्राउंड’ राज्य पेन्सिलवेनिया, मिशिगन, नॉर्थ कैरोलाइना और जॉर्जिया में अपनी जीत की घोषणा कर दी थी। ‘बैटलग्राउंड’ उन राज्यों को कहा जाता है, जहां रुझान स्पष्ट नहीं होता।

अमेरिका के राष्ट्रपति ने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा, ‘हमने पेन्सिलवेनिया, जॉर्जिया और नॉर्थ कैरोलाइना में दावा किया है, जहां प्रत्येक में ट्रंप को बढ़त मिल रही थी़.. इनके अलावा हम मिशिगन पर भी दावा कर रहे है, जहां बड़ी संख्या में गुप्त रूप से मतपत्रों के होने की जानकारी मिली थी।’

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘हमारे वकीलों ने ‘सार्थक पहुंच’ की अनुमति मांगी है, लेकिन अब उससे क्या भला होगा? हमारी प्रणाली की अखंडता को और राष्ट्रपति चुनाव को क्षति पहुंच चुकी है। इस बारे में चर्चा की जानी चाहिए।’

दूसरी ओर, बाइडेन ने चुनाव में जीत का विश्वास व्यक्त किया। उन्होंने ट्वीट किया, ‘प्रक्रिया पर और एक-दूसरे में विश्वास रखें। हम साथ में इसमें जीत दर्ज करेंगे।’

ट्रंप अभियान दल ने जॉर्जिया, मिशिगन और पेन्सिलवेनिया में मुकदमे दर्ज कराए हैं और विस्कॉन्सिन में मतों की फिर गिनती किए जाने की मांग की है। मुख्य धारा की मीडिया ने बाइडेन को मिशिगन और विस्कॉन्सिन में विजेता बताया है। वहीं ट्रंप पेन्सिलवेनिया में आगे चल रहे हैं।

ट्रंप को जीतने के लिए ‘बैटलग्राउंड’ राज्य जॉर्जिया, नॉर्थ कैरोलाइना और नेवादा में जीत दर्ज करना बहुत जरूरी है, जहां बाइडेन थोड़े ही अंतर से आगे चल रहे हैं। वहीं ट्रंप अभियान को अरिजोना में भी जीत की उम्मीद है, जबकि कई मीडिया संगठन बाइडेन को वहां विजेता घोषित कर चुके हैं।