चीन के ई-कॉमर्स उद्योग के कर्मचारियों के लिए जानलेवा साबित हो रहा काम का बोझ

प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay
प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay

हांगकांग/भाषा। कोरोना वायरस महामारी के बीच भी काम करते रहे ई-कॉमर्स कर्मचारी अपने वेतन और खुद के साथ हो रहे बर्ताव से इतने नाखुश हैं कि एक ने तो विरोध जताते हुए खुद को आग लगा ली।

महामारी के दौरान जहां लाखों परिवार घरों में कैद रहे, वहीं सामान की मांग बढ़ गई और कर्मचारियों ने जमाने वाली सर्दी में भी टनों सब्जी, चावल और अन्य खाद्य सामग्रियों तथा डायपर आदि की आपूर्ति की।

प्रौद्योगिकी क्षेत्र के उद्योगों में आधिकारिक स्तर के कर्मचारियों की पगार अन्य कुछ उद्योगों से अच्छी है, लेकिन कर्मचारियों से एक दिन में 12 घंटे से अधिक काम लिया जाता है।

हालांकि कर्मचारियों की दुर्दशा पर ध्यान उस समय गया जब ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पिंदुओदुओ के दो कर्मचारियों की मौत हो गई। इस तरह की अटकलें थीं कि अधिक काम करने की वजह से उनकी जान गई। इसे बड़ी चिंता की बात बताते हुए सरकारी शिन्हुआ समाचार एजेंसी ने काम के घंटे कम करने की वकालत की है।

इस तरह के विवाद चीन के इंटरनेट उद्योग की छवि के लिए झटका है जो देश की अर्थव्यवस्था को बदल रहा है और नए रोजगार पैदा कर रहा है। इस उद्योग ने कई ई-कॉमर्स कंपनियों के संस्थापकों को दुनिया के सबसे धनी उद्यमियों तक में शामिल किया है।