logo
असमः आतंकवाद से संबंध पाए जाने के आरोप में बड़ी कार्रवाई, मदरसे पर चला बुलडोजर
यह इस सप्ताह इस तरह की कार्रवाई का दूसरा मामला है
 
अधिकारी ने बताया कि अल-कायदा भारतीय उपमहाद्वीप और अंसार-उल-बांग्ला टीम से संबंध होने के संदेह में पिछले सप्ताह मदरसे के एक शिक्षक को गिरफ्तार किया था

गुवाहाटी/भाषा। असम के बोंगाइगांव जिले में अधिकारियों ने बुधवार को एक मदरसे को ढहा दिया जिसके परिसर में कथित तौर पर ‘जिहादी’ गतिविधियां चल रही थीं। पुलिस के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

अधिकारी ने बताया कि अल-कायदा भारतीय उपमहाद्वीप और अंसार-उल-बांग्ला टीम से संबंध होने के संदेह में पिछले सप्ताह मदरसे के एक शिक्षक को गिरफ्तार किया था।

अधिकारी ने कहा कि जिले के जोगीघोपा इलाके में स्थित दो मंजिला कबायतारी मा आरिफ मदरसे को तोड़ने के लिए बुलडोजर तैनात किए गए थे। मदरसे के परिसर में बने अन्य ढांचों को भी ढहा दिया गया।

यह इस सप्ताह इस तरह की कार्रवाई का दूसरा मामला है। इससे पहले सोमवार को बारपेटा जिले में एक मदरसे को ढहा दिया गया था, जिसमें कथित रूप से अंसार-उल-बांग्ला टीम के दो बांग्लादेशी सदस्य चार वर्ष से रह रहे थे।

बारपेटा पुलिस ने इस मामले में मदरसे के प्रिंसिपल, एक शिक्षक और एक अन्य व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया था।

बोंगाईगांव के पुलिस अधिकारी ने कहा कि मंगलवार रात गोलपाड़ा पुलिस को एक अभियान के दौरान कबायतारी मा आरिफ मदरसे की कैंटीन से श्जिहादीश् तत्वों से संबंधित दस्तावेज मिले थे, जिसके बाद इसे ढहाया जा रहा है।

गोलपाड़ा पुलिस ने पिछले हफ्ते मदरसे के एक शिक्षक को गिरफ्तार किया था और उसके द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर छापेमारी की गई थी।

पुलिस अधिकारी ने कहा, “जिला आपदा प्रबंधन अधिकारियों ने मदरसे को भवन मानदंडों के उल्लंघन के लिए नोटिस जारी किया था और घोषित किया था कि यह रिहाइश के लिए उपयुक्त नहीं है।”

अधिकारी ने कहा, मदरसे में 224 छात्र थे, और अधिकारियों ने उन्हें 30 अगस्त की रात तक परिसर खाली करने के लिए कहा था। जिला प्रशासन ने घर जाने में उनकी मदद की। ज्यादातर बच्चों के अभिभावक आए और उन्हें ले गए।

<