logo
कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने का फैसला किया हैः अशोक गहलोत
कांग्रेस ने बृहस्पतिवार को पार्टी के अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए अधिसूचना जारी की थी
 
गहलोत ने यह भी कहा कि राजस्थान सरकार का नेतृत्व करने के लिए उनके उत्तराधिकारी के संबंध में कोई भी फैसला सोनिया गांधी और अजय माकन द्वारा लिया जाएगा

कोच्चि/भाषा। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को स्पष्ट किया कि वे पार्टी के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि चुनाव के नतीजे चाहे जो भी हों, एकजुट होकर काम करना और यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि पार्टी एक मजबूत विपक्षी दल के रूप में उभरे।

कोच्चि में संवाददाताओं से मुखातिब गहलोत ने यह भी कहा कि राजस्थान सरकार का नेतृत्व करने के लिए उनके उत्तराधिकारी के संबंध में कोई भी फैसला कांग्रेस की मौजूदा अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रदेश में पार्टी मामलों के प्रभारी अजय माकन द्वारा लिया जाएगा।

गहलोत ने कहा, मैं (केरल से राजस्थान) लौटने के बाद तिथि तय करूंगा (नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए), लेकिन मैंने फैसला किया है कि मुझे चुनाव लड़ना होगा। यह लोकतंत्र का सवाल है और आइए, हम एक नई शुरुआत करें।

तिरुवनंतपुरम के सांसद शशि थरूर के कांग्रेस के अध्यक्ष पद की दौड़ में शामिल होने की अटकलों पर गहलोत ने कहा कि ‘कांग्रेस के अन्य मित्र’ भी चुनाव लड़ सकते हैं, लेकिन पार्टी में एकता और सभी स्तरों पर संगठन को मजबूत करना सबसे ज्यादा मायने रखता है।

उन्होंने कहा, कांग्रेस के कुछ मित्र हैं। अगर वे चुनाव लड़ते हैं तो कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन, नतीजों के बाद हम सभी को कांग्रेस को ब्लॉक, गांव और जिला स्तर पर मजबूत बनाने के लिए साथ मिलकर काम करना चाहिए और अपनी (कांग्रेस की) विचार प्रक्रिया को आधार बनाकर आगे बढ़ना चाहिए, ताकि हम एक मजबूत विपक्ष के रूप में उभर सकें।

राजस्थान के मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के मौजूदा हालात को देखते हुए एक मजबूत विपक्ष की जरूरत है।

कांग्रेस के नेतृत्व के संदर्भ में राहुल गांधी के ‘एक व्यक्ति, एक पद’ वाले बयान और चुनाव जीतने की सूरत में राजस्थान के मुख्यमंत्री के रूप में उनके संभावित उत्तराधिकारी के बारे में पूछे जाने पर गहलोत ने कहा कि मौजूदा पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और राजस्थान में पार्टी मामलों के प्रभारी अजय माकन इस संबंध में फैसला लेंगे।

गहलोत से यह भी पूछा गया कि क्या राजस्थान में उनके उत्तराधिकारी के चयन में उनकी कोई भूमिका होगी।

जवाब में उन्होंने कहा, मैं कोच्चि में खड़ा होकर यह नहीं कह सकता। राजस्थान में पार्टी मामलों के प्रभारी अजय माकन और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी राजस्थान में संबंधित घटनाक्रमों और यह कब किया जाना है, इस पर फैसला लेंगे।

कांग्रेस ने बृहस्पतिवार को पार्टी के अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए अधिसूचना जारी की थी।

राहुल गांधी के अध्यक्ष पद का चुनाव न लड़ने के संकेत देने के मद्देनजर पार्टी का नेतृत्व दशकों बाद किसी गैर-गांधी नेता के हाथों में जाने की संभावना जताई जा रही है।

कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए घोषित कार्यक्रम के अनुसार, अधिसूचना कल बृहस्पतिवार को जारी होने के बाद अब नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया 24 से 30 सितंबर तक चलेगी। नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि आठ अक्टूबर है। एक से अधिक उम्मीदवार होने पर 17 अक्टूबर को मतदान होगा और नतीजे 19 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे।

<