logo
वॉट्सऐप पर फर्जी डीपी लगाकर ठग लिए एक करोड़ रु., ऐसे मैसेज से रहें सावधान
साइबर अपराध थाने में इस संबंध में मामला दर्ज किया गया है
 
अलग-अलग खातों में कुल 1,11,71,696 रुपए भेजे गए हैं

गुरुग्राम/दक्षिण भारत/भाषा। सोशल मीडिया के जरिए ठगी की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। ठगों ने एक ऑटो मोबाइल कंपनी के वाइस चेयरमैन के नाम से उसके मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) को वॉट्सऐप पर मैसेज भेजकर कथित रूप से एक करोड़ रुपए से अधिक ठग लिए हैं।

पुलिस ने बताया कि इन साइबर ठगों ने वॉट्सऐप संदेश भेजकर सीएफओ से अलग-अलग खातों में पैसे अंतरित कराए। उन्होंने बताया कि साइबर अपराध थाने में इस संबंध में मामला दर्ज किया गया है।

जेबीएम समूह के सीएफओ विवेक गुप्ता द्वारा दी गई शिकायत के अनुसार, शुक्रवार को उन्हें वॉट्सऐप पर मैसेज आया कि उसमें दिए गए बैंक खातों में बताई गई राशि भेज दे।

शिकायत के अनुसार, ‘ठग ने दावा किया कि वह जेबीएम समूह का वाइस चेयरमैन निशांत आर्य है। उसके वॉट्सऐप की डीपी (डिस्प्ले पिक्चर) में आर्य की तस्वीर थी। ट्रूकॉलर पर नंबर की पुष्टि करने पर भी सामने आया कि नंबर आर्य का है। चूंकि संदेश भेजने वाले ने कहा कि वह किसी बैठक में है, मैं पुष्टि करने के लिए सीधे कॉल नहीं कर पाया।’

गुप्ता ने शिकायत में कहा है, ‘मैंने संदेश भेजने वाले को निशांत आर्य समझकर पैसे का लेन-देन पूरी कर दिया। सारा पैसा जेबीएम समूह की दो कंपनियों जेबीएम इंडस्ट्रीज और जेबीएम ऑटो के खातों से भेजा गया है।’

शिकायत के अनुसार, अलग-अलग खातों में कुल 1,11,71,696 रुपए भेजे गए हैं। पुलिस ने संबंधित धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

<