logo
मानव मात्र की सेवा, जीव मात्र का कल्याण यही हमारे संसाधनों का एकमात्र उद्देश्य: मोदी
मानवता की सेवा के लिए रोपा गया बीज आज वटवृक्ष के रूप में लोगों की सेवा कर रहा है
 
'वसुधैव कुटुंबकम' यानी पूरे विश्व को अपना परिवार मानते हुए भारत ने दुनिया के 150 देशों को दवाएं भेजीं

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को फिजी में श्री सत्य साईं संजीवनी चिल्ड्रन्स हार्ट हॉस्पिटल के उद्घाटन के अवसर पर कहा कि मानव मात्र की सेवा, जीव मात्र का कल्याण ही हमारे संसाधनों का एक मात्र उद्देश्य है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस शुभारंभ कार्यक्रम से जुड़कर मुझे बहुत खुशी हो रही है। मैं इसके लिए फिजी के प्रधानमंत्री और फिजी की जनता का अभार प्रकट करता हूं। यह हमारे-आपके पारंपरिक रिश्तों और प्रेम का एक और प्रतीक है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह अस्पताल न सिर्फ फिजी में बल्कि पूरे साउथ पेसिफिक रीजन में पहला चिल्ड्रन्स हार्ट हॉस्पिटल है। एक ऐसे क्षेत्र के लिए जहां हृदय से जुड़ी बीमारियां बड़ी चुनौती हों, यह अस्पताल बच्चों को नया जीवन देने का माध्यम बनेगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस अवसर पर ब्रह्मलीन श्री सत्य साईं बाबा को नमन करता हूं। मानवता की सेवा के लिए उनके द्वारा रोपा गया बीज आज वटवृक्ष के रूप में लोगों की सेवा कर रहा है। सत्य साईं बाबा ने अध्यात्म को कर्मकांड से मुक्त करके जन कल्याण से जोड़ने का अद्भुत काम किया था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि 'वसुधैव कुटुंबकम' यानी पूरे विश्व को अपना परिवार मानते हुए भारत ने दुनिया के 150 देशों को दवाएं भेजीं, जरूरी सामान भेजा, अपने करोड़ों नागरिकों की चिंता के साथ-साथ भारत ने दुनिया के अन्य देशों की भी चिंता की।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मानव मात्र की सेवा, जीव मात्र का कल्याण यही हमारे संसाधनों का एकमात्र उद्देश्य है। इन्हीं उद्देश्यों पर भारत और फिजी की साझी विरासत खड़ी हुई है। इन्हीं आदर्शों पर चलते हुए कोरोना महामारी जैसे कठिन समय में भी भारत ने अपने कर्तव्यों का पालन किया है।

<