logo
इंडियन आर्टिज़न बाज़ार में सुंदरता और शिल्प का संगम, उमड़े लोग
यहां भारत के हर राज्य के शिल्प को बहुत सुंदर तरीके से दर्शाया गया है
 
साथ ही पोशाक सामग्री, हथकरघा रेशम, दस्तकारी आभूषण, घर की सजावट और अन्य कला तथा शिल्प का जीवंत संग्रह है

चेन्नई/दक्षिण भारत। इंडियन आर्टिज़न बाज़ार के दूसरे संस्करण का शुक्रवार को आगाज़ हुआ। यह आयोजन 14 अगस्त तक जारी रहेगा। तिरुवन्मियूर के सीईआरसी प्रदर्शनी ग्राउंड में हो रहे इस आयोजन में बड़ी संख्या में लोग उमड़े। यहां कला, शिल्प, वस्त्र, आभूषण, गृह सज्जा, फर्नीचर आदि से संबंधित प्रॉडक्ट्स ने लोगों को आकर्षित किया, जिन्हें नामी कलाकारों ने बनाया है।

यहां भारत के प्रत्येक राज्य के शिल्प को बहुत सुंदर तरीके से दर्शाया गया है। साथ ही पोशाक सामग्री, हथकरघा रेशम, दस्तकारी आभूषण, घर की सजावट और अन्य कला तथा शिल्प का जीवंत संग्रह है।

Photo: DBR

इसके अलावा तमिलनाडु से कांचीपुरम रेशम, कर्नाटक से कच्चा रेशम सामग्री, क्रेप और जॉर्जेट साड़ी, कलमकारी, पोचमपल्ली, मंगलगिरि पोशाक सामग्री, उप्पदा, गडवाल, धर्मावरम, आंध्र प्रदेश से शुद्ध रेशम जरी साड़ी जैसे हथकरघा वस्त्र प्रदर्शित किए जाएंगे। आंध्र प्रदेश, भागलपुर, जम्मू-कश्मीर, मध्य प्रदेश और उड़ीसा से रेशम की साड़ियां; जयपुर कुर्ती, ब्लॉक प्रिंट, आंगनेरी प्रिंट, राजस्थान से कोटा डोरिया, पश्चिम बंगाल से ढाकाई जामदानी और महाराष्ट्र से जरी पैठानी साड़ी भी उपलब्ध होंगी। एंट्री और पार्किंग निशुल्क होगी। समय सुबह 10.30 से रात 8.30 बजे तक है।

<