logo
ओ पनीरसेल्वम की मांग- फ्लू वायरस के प्रसार को नियंत्रित करे द्रमुक सरकार
उन्होंने कहा- मुख्यमंत्री को तत्काल हस्तक्षेप करना चाहिए
 
'फ्लू के वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के उपाय के अलावा स्कूलों में कुछ समय के लिए छुट्टियों की घोषणा की जाए'

चेन्नई/दक्षिण भारत। पूर्व मुख्यमंत्री और अन्नाद्रमुक के अपदस्थ नेता ओ पनीरसेल्वम ने रविवार को बच्चों में फ्लू वायरस के बुखार को नियंत्रण में लाने के लिए द्रमुक सरकार से प्रभावी उपाय करने की मांग की।

उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को भी फ्लू बुखार के संबंध में माता-पिता के बीच जागरूकता पैदा करने के लिए कदम उठाने चाहिए और स्कूलों में फिलहाल अवकाश घोषित करना चाहिए।

उन्होंने बताया कि राज्य में कोरोना वायरस के मामलों में मामूली वृद्धि के बीच फ्लू वायरस फैलने के कारण अस्पतालों में आने वाले रोगियों की संख्या में वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा, चूंकि बच्चों में वायरस का प्रसार बढ़ गया है, कई सौ मरीज विशेष रूप से चेन्नई के एग्मोर चिल्ड्रन हॉस्पिटल में भर्ती हो रहे थे।

उन्होंने कहा, चूंकि फ्लू, जो सर्दी और खांसी के साथ होता है, दूसरों में भी फैल जाएगा, विशेष रूप से स्कूलों में बच्चों के बीच। ऐसे में एहतियाती उपाय करने की स्थिति आ गई है क्योंकि ऐसा कोविड महामारी के दौरान किया गया था। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने भी चेतावनी दी है कि 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को बेहद सावधान रहना चाहिए।

सदन में विपक्ष के उपनेता ने यह भी सलाह दी कि फ्लू से प्रभावित परिवारों को घर पर ही रहना चाहिए, ताकि यह दूसरों में न फैले। इसके अलावा, उन्हें बाहर का खाना लेने से भी बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिन लोगों को लगातार बुखार है, उन्हें स्वेच्छा से टेस्ट कराने और उसके अनुसार दवा लेनी चाहिए।

पनीरसेल्वम ने कहा कि पुड्डुचेरी सरकार ने कक्षा एक से सातवीं तक के छात्रों के लिए छुट्टियों की घोषणा की है। हालांकि सरकार ने छात्रों से अनुरोध किया था कि अगर उन्हें बुखार है तो वे स्कूल न आएं। कुछ स्कूल परीक्षा का हवाला देकर बच्चों को कक्षाओं में आने के लिए मजबूर कर रहे थे।

उन्होंने कहा, इसलिए मुख्यमंत्री को तत्काल हस्तक्षेप करना चाहिए। फ्लू के वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के उपाय के अलावा स्कूलों में कुछ समय के लिए छुट्टियों की घोषणा की जाए।

<