logo
मानव तस्करी मामले में दलेर मेहंदी को 2 साल की सजा
साल 2003 में दलेर मेहंदी अचानक सुर्खियों में आए थे, जब उन पर मानव तस्करी का आरोप लगा था
 
अदालत का फैसला आते ही पुलिस ने दलेर को गिरफ्तार कर लिया

चंडीगढ़/दक्षिण भारत। पंजाबी गायक दलेर मेंहदी को अदालत से झटका लगा है। उन्हें मानव तस्करी मामले में दो साल की सजा सुनाई गई है। यह मामला करीब 18 साल पुराना है। फैसला पटियाला की अदालत से आया है, जिसने दलेर मेहंदी को राहत देने से इन्कार करते हुए दो साल की सजा बरकरार रखी है।

गौरतलब है कि साल 2003 में दलेर मेहंदी अचानक सुर्खियों में आए थे, जब उन पर मानव तस्करी का आरोप लगा था। गुरुवार को अदालत का फैसला आते ही पुलिस ने दलेर को गिरफ्तार कर लिया।

दलेर मेहंदी पर आरोप था कि वे लोगों को अवैध रूप से विदेश भेज रहे थे, जिसके बदले काफी पैसा वसूल किया था। मामले के अनुसार, उन्होंने 1998 और 99 में दर्जनभर लोगों को अवैध ढंग से सेन फ्रांसिस्को और न्यू जर्सी में छोड़ा था।

जब मामला प्रकाश में आया तो दलेर और उनके भाई शमशेर के खिलाफ और शिकायतें सामने आईं। मीडिया रिपोर्टों की मानें तो दोनों के खिलाफ 35 शिकायतें आईं, जिनमें गंभीर आरोप लगाए गए थे। मामले में कहा गया ​कि दोनों भाइयों ने उक्त लोगों से मोटी रकम वसूलने के बाद काम पूरा नहीं किया और न पैसा वापस लौटाया।

बिहार के पटना में 18 अगस्त, 1967 को जन्मे दलेर मेहंदी गायक, गीत लेखक और रिकॉर्ड प्रोड्यूसर हैं। उनके गाने 'बोलो ता रा रा', 'हो जाएगी बल्ले-बल्ले', 'एक दाना' आदि बहुत पसंद किए गए।

<