logo
कहां से विधानसभा चुनाव लड़ेंगे योगी आदित्यनाथ? दिया यह जवाब
यह पूछे जाने पर कि वे अयोध्या से चुनाव लड़ेंगे या मथुरा से या गोरखपुर से, उन्होंने कहा ...
 
‘चुनाव कब होंगे’, इस सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इसका निर्णय निर्वाचन आयोग ही करेगा तथा चुनाव के समय कोरोना प्रोटोकॉल का पूरा पालन किया जाएगा

लखनऊ/भाषा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्पष्ट किया है कि वह आगामी विधानसभा चुनाव लड़ने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि वह कहां से चुनाव मैदान में उतरेंगे, इस बात का फैसला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का नेतृत्व करेगा।

मुख्यमंत्री ने शनिवार रात कुछ पत्रकारों के साथ बातचीत में कहा, 'मेरे चुनाव लड़ने पर कोई संशय नहीं है। लेकिन मैं चुनाव कहां से लड़ूंगा इस बात का फैसला पार्टी नेतृत्व करेगा।' योगी इस समय उत्तर प्रदेश विधानपरिषद के सदस्य हैं।

यह पूछे जाने पर कि वह अयोध्या से चुनाव लड़ेंगे या मथुरा से या गोरखपुर से, उन्होंने कहा, ‘पार्टी जहां से कहेगी, मैं वहां से चुनाव लड़ूंगा।’

योगी से जब पूछा गया कि क्या कोई ऐसा कार्य है जो वह अपने पांच साल के कार्यकाल में नहीं कर पाए, उन्होंने कहा, 'जो हमने कहा था वे सब काम किए। ऐसा कोई काम नहीं बचा जिसका मुझे पश्चाताप हो।’

कुछ क्षेत्रों में विधायकों के प्रति नाराजगी होने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, 'इस समय हमारी जनविश्वास यात्राएं निकल रही हैं। जनविश्वास यात्राएं तीन जनवरी को पूरी होने जा रही हैं। आप देखेंगे इसके बाद और भी अच्छा वातावरण प्रदेश में देखने को मिलेगा।'

जब मुख्यमंत्री योगी को यह बताया गया कि ऐसी चर्चा है कि मंत्रियों और विधायकों में यह डर है कि आगामी विधानसभा चुनाव में उनका टिकट कट सकता है, उन्होंने कहा, ‘भाजपा एक विराट परिवार है। वहां व्यक्ति की भूमिका अलग-अलग समय में अलग-अलग होती है। यह आवश्यक नहीं कि एक व्यक्ति हमेशा सरकार में रहे। कभी वह संगठन का काम भी कर सकता है।’

‘चुनाव कब होंगे’, इस सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इसका निर्णय निर्वाचन आयोग ही करेगा तथा चुनाव के समय कोरोना प्रोटोकॉल का पूरा पालन किया जाएगा।

यह पूछे जाने पर कि 2017 के चुनाव और 2022 में होने वाले चुनाव में क्या फर्क नजर आता है, उन्होंने कहा, ‘2017 में हम राज्य सरकार की नाकामियों पर लड़ रहे थे, इस बार राज्य की कामयाबियों को आगे रखकर चुनाव लड़ रहे हैं। राज्य सरकार ने विकास के कार्य किए हैं, उसी के आधार पर हम चुनाव लड़ रहे हैं।’

समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव के 300 यूनिट बिजली मुफ्त करने संबंधी वादे पर उन्होंने कहा कि जनता जानती है कि 2017 से पहले प्रदेश के केवल पांच जिलों में ही बिजली आती थी।

उत्तर प्रदेश में आसन्न विधानसभा चुनाव के मद्देनजर नए साल के पहले दिन शनिवार को यादव ने कहा था कि उनकी पार्टी अगर सत्ता में आती है तो लोगों को 300 यूनिट घरेलू बिजली मुफ्त मिलेगी और सिंचाई बिल माफ किया जाएगा।

राज्य में 2017 से पहले सपा की सरकार थी। इस सवाल पर कि कांग्रेस महिलाओं को स्कूटी देने की बात कह रही है, मुख्यमंत्री ने कहा, 'राजस्थान, पंजाब और छत्तीसगढ़ में भी तो कांग्रेस की सरकार हैं वहां उसने कितने लोगों को स्कूटी दे दी है।’

देश-दुनिया के समाचार FaceBook पर पढ़ने के लिए हमारा पेज Like कीजिए, Telagram चैनल से जुड़िए