logo
महारानी एलिजाबेथ की मौत के बाद उनकी तस्वीरों के साथ जारी नोट, सिक्कों का क्या होगा?
क्या महारानी के चित्र वाले सभी सिक्के चलन से हट जाएंगे?
 
राजा चार्ल्स की ताजपोशी के बाद उनकी नई तस्वीर ली जाएगी जिसमें चेहरा बाईं ओर से होगा

लंदन/एपी। ब्रिटेन के बैंक नोट और सिक्कों पर दशकों से महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की तस्वीर लगी है। उनका चित्र दुनियाभर में दर्जनों अन्य देशों की मुद्राओं पर भी है जो कि ब्रिटिश साम्राज्य के औपनिवेशिक प्रभाव का द्योतक है।

महारानी के निधन के बाद ब्रिटेन, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और अन्य देशों को अपनी मुद्रा में परिवर्तन करने में समय लगेगा लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि एलिजाबेथ के चित्र वाले नोट और सिक्के नहीं चलेंगे। मुद्रा पर अब महारानी की जगह राजा चार्ल्स तृतीय की तस्वीर होगी मगर यह तत्काल संभव नहीं।

बैंक ऑफ इंग्लैंड ने कहा, ‘वर्तमान में महारानी के चित्र वाली मुद्रा कानूनी तौर पर मान्य रहेगी।’ आधिकारिक तौर पर दस दिवसीय राष्ट्रीय शोक के बाद ब्रिटेन के ‘केंद्रीय बैंक’ द्वारा मुद्रा के संबंध में घोषणा की जाएगी।

ब्रिटेन में आधिकारिक तौर पर सिक्कों का निर्माण करने वाले रॉयल मिंट ने कहा कि महारानी के चित्र वाले सभी सिक्के कानूनी तौर पर चलन के लिए मान्य रहेंगे।

रॉयल मिंट की वेबसाइट पर कहा गया, ‘हम शोक के इस काल में पहले की तरह ही सिक्के बनाते रहेंगे।’ वर्तमान में ब्रिटेन के 4.7 अरब नोट चलन में हैं जिनका मूल्य 95 अरब डॉलर है। इसके अलावा 29 अरब सिक्के भी लेनदेन और व्यापार में इस्तेमाल किये जाते हैं जिनके कई वर्षों तक चलन में रहने की उम्मीद है।

ब्रिटेन के सिक्कों की विशेषज्ञ वेबसाइट ‘कॉइन एक्सपर्ट’ के मुताबिक, ‘सभी सिक्कों और नोटों को वापस लिए जाने की बजाय, यह प्रक्रिया धीरे-धीरे होगी और महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के चित्र वाली मुद्रा आने वाले कई वर्षों तक चलन में रहेगी।’

वेबसाइट के अनुसार, राजा चार्ल्स की ताजपोशी के बाद उनकी नई तस्वीर ली जाएगी जिसमें चेहरा बाईं ओर से होगा और यही तस्वीर सिक्कों पर अंकित की जाएगी।

गौरतलब है कि महारानी के चित्र में उनका चेहरा दाहिनी ओर देखते हुए था। यह 17वीं शताब्दी से चली आ रही प्रथा है जिसके अनुसार नए शासक के चित्र को पिछले शासक की तुलना में विपरीत दिशा से लिया जाता है।

अन्य देशों की बात करें तो ऑस्ट्रेलिया और कनाडा आदि देशों की मुद्रा पर भी महारानी का चित्र अंकित है। वेबसाइट के अनुसार, इन देशों में मुद्रा पर तस्वीर बदलने में अधिक समय लग सकता है क्योंकि मूल देश में किसी डिजाइन में परिवर्तन करना आसान होता है मगर दूसरे देश में इसे लागू करने में कठिनाई होती है।

बैंक ऑफ कनाडा ने कहा है कि उसके 20 डॉलर के नोट, जो कि सिन्थेटिक पॉलीमर से बने हैं, आने वाले कई वर्षों तक चलन में रहेंगे। बैंक ऑफ कनाडा ने कहा, ‘‘शासक के बदलने पर किसी समयसीमा के भीतर डिजाइन में परिवर्तन करने की कोई कानूनी बाध्यता नहीं है।’’

न्यूजीलैंड के रिजर्व बैंक ने कहा कि वह चार्ल्स की तस्वीर वाली नई मुद्रा जारी करने से पहले महारानी के चित्र वाले सारे सिक्के जारी कर देगा।

बैंक ने कहा कि 20 डॉलर के नोट पर भी महारानी का चित्र अंकित है और केवल इसलिए इन नोटों को नष्ट नहीं किया जा सकता कि उनपर महारानी का चित्र है। न्यूजीलैंड के रिजर्व बैंक ने कहा, ‘‘राजा चार्ल्स तृतीय के चित्र वाले सिक्के जारी करने की जरूरत से पहले कई साल तक 20 डॉलर के नोट चलन में रहेंगे।’’

<