logo
योगी भाजपा के सदस्य भी नहीं, कभी यहां से तो कभी वहां से टिकट मांग रहे : अखिलेश
पूर्व मंत्री विनोद कुमार सिंह उर्फ पंडित सिंह की पुण्यतिथि पर हुए कार्यक्रम में हुए श्ाामिल
 
अखिलेश ने दावा किया कि इस बार उत्तर प्रदेश में सपा की सरकार बनेगी

लखनऊ/दक्षिण्ा भारत/ समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को दावा किया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्य भी नहीं हैं तथा वह कभी इस विधानसभा से और कभी उस विधानसभा क्षेत्र से टिकट मांग रहे हैं और उन्हें कोई टिकट नहीं दे रहा है।
इसपर पलटवार करते हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने लखनऊ में कहा कि हमारे लोकप्रिय और यशस्वी मुख्यमंत्री राज्य की सभी 403 सीटों पर चुनाव लड़ रहे और अखिलेश यादव तय नहीं कर पा रहे हैं कि खुद कहां से चुनाव लड़ें।
अखिलेश यादव शुक्रवार को पूर्व मंत्री विनोद कुमार सिंह उर्फ पंडित सिंह की पुण्यतिथि पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के लिए गोंडा में थे। उन्होंने पत्रकारों से एक सवाल के जवाब में कहा कि मुख्यमंत्री (योगी आदित्यनाथ) टिकट मांग रहे हैं, कभी इस विधानसभा से, कभी उस विधानसभा से और कोई उन्हें टिकट नहीं दे रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री ने यह भी दावा किया, 'वह (योगी) भाजपा के सदस्य नहीं हैं और पूरी भाजपा के लोग उनसे दुखी हैं, जितने भी सीनियर (वरिष्ठ) हैं, सब दुखी हैं। वो कहते हैं कि खून पसीना बनाकर हमने पार्टी बनाई और ये जाने कहां से आ गए और बैठ गए।
अखिलेश ने यह भी कहा, 'जिस तरह से सूचना आ रही है कि वह (योगी) यहां से चुनाव लड़ेंगे, वह वहां से लड़ेंगे उससे लगता है कि वो टिकट मांग रहे हैं, कितने कमजोर मुख्यमंत्री हैं, जो टिकट मांग रहे हैं। उल्लेखनीय है कि योगी के बारे में कभी मथुरा तो कभी अयोध्या तो कभी गोरखपुर से चुनाव लड़ने की खबरें मीडिया में आ रही हैं। भाजपा के राज्यसभा सदस्य हरनाथ सिंह यादव ने बीते दिनों एक पत्र लिखकर योगी को मथुरा से चुनाव लड़ाने की मांग की थी। अखिलेश यादव के इस बयान के कुछ ही घंटे बाद स्वतंत्र देव सिंह ने यहां जारी एक बयान में कहा, हमारे लोकप्रिय और यशस्वी मुख्यमंत्री सभी 403 सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं। अखिलेश जी अपनी ही पार्टी के भीतर आंतरिक गुटबाजी से इतने हताश और निराश हैं कि खुद तय नहीं कर पा रहे हैं कि कहां से उम्मीदवारी करें। हार का डर इस कदर उनके मन मस्तिष्क में बैठ गया है कि वह गंभीर अवसाद में चले गए हैं और अनर्गल प्रलाप करते घूम रहे हैं।
सिंह ने कहा कि हो सकता है 2019 के लोकसभा चुनावों में खुद कन्नाौज में डटे रहने के बाद भी करारी हार का सदमा नहीं झेल पाए हैं, इसलिए बेतुकी बातें करके खुद का अवसाद दूर करने की कोशिश कर रहे हों। उन्होंने कहा कि भाजपा लोकतांत्रिक मूल्यों का पालन करने वाली पार्टी है, इसलिए हमारे मुख्यमंत्री जी पार्टी के निर्देश पर कहीं से भी लड़ने की बात कहते हैं, वह (योगी) पांच बार लोकसभा में भाजपा की ओर से गोरखपुर का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने दावा किया, जनता फिर से भाजपा सरकार बनाने का मन बना चुकी है, 300 प्लस सीटों पर कमल खिलाकर अखिलेश जी को अबकी बार परमानेंट वर्क फ्रॉम होम पर भेजने जा रही है।
अखिलेश ने एक अन्य सवाल के जवाब में कहा, 'हम बहुत जल्द बता देंगे कि हम कहां से चुनाव लड़ेंगे, हमारी पार्टी तय करेगी कि मैं चुनाव लड़ाऊं कि चुनाव लडूं या चुनाव लड़कर भी लड़ाऊं, यह पार्टी तय करेगी। उन्होंने भाजपा पर अपने कार्यक्रमों की नकल करने का आरोप लगाते हुए कहा कग समाजवादी पार्टी के एक नेता ने भगवान परशुराम की मूर्ति लगा दी तो आज भाजपा ने भी उनकी मूर्ति लगा दी। इसी तरीके से सपा का एक विजय रथ निकला तो भाजपा के छह रथ निकल पड़े, लेकिन सपा का एक रथ भारी है। अखिलेश ने दावा किया कि इस बार उत्तर प्रदेश में सपा की सरकार बनेगी।