logo
अग्निपथ योजना में आयु सीमा बढ़ाने से युवाओं को मिलेंगे नए अवसर: थल सेना प्रमुख
जनरल पांडे ने कहा कि सेना में भर्ती के लिए उम्र में एकबारगी छूट देने के सरकार के फैसले के बाद भर्ती प्रक्रिया की घोषणा जल्द की जाएगी
 
थल सेना प्रमुख ने आकांक्षी युवाओं से सेना में 'अग्निवीर' के रूप में शामिल होने के अवसर का लाभ उठाने का भी आह्वान किया

नई दिल्ली/भाषा। थल सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने शुक्रवार को कहा कि 'अग्निपथ' योजना के तहत आयु सीमा को 21 से बढ़ाकर 23 वर्ष करने का निर्णय उन युवाओं को अवसर प्रदान करेगा जो सेना में भर्ती होने की तैयारी कर रहे थे, लेकिन पिछले दो साल से कोविड-19 महामारी के कारण ऐसा नहीं कर पाये।

जनरल पांडे ने कहा कि सेना में भर्ती के लिए उम्र में एकबारगी छूट देने के सरकार के फैसले के बाद भर्ती प्रक्रिया की घोषणा जल्द की जाएगी।

थल सेना प्रमुख ने आकांक्षी युवाओं से सेना में 'अग्निवीर' के रूप में शामिल होने के अवसर का लाभ उठाने का भी आह्वान किया।

सेना प्रमुख ने एक बयान में कहा कि सरकार का योजना के तहत भर्ती की प्रवेश आयु को बढ़ाकर 23 वर्ष करने का निर्णय 2022 के भर्ती चक्र के लिए है।

उन्होंने कहा, 'यह निर्णय हमारे कई ऊर्जावान और देशभक्त युवाओं के लिए एक अवसर प्रदान करेगा जो कोविड-19 महामारी के बावजूद भर्ती की प्रक्रिया में शामिल होने की तैयारी कर रहे थे और पिछले दो साल में कोविड प्रतिबंधों के कारण पूरी नहीं हो सकीं।'

जनरल पांडे ने कहा, 'भर्ती प्रक्रिया का कार्यक्रम जल्द ही घोषित किया जाएगा। हम अपने युवाओं से भारतीय सेना में अग्निवीर के रूप में शामिल होने के इस अवसर का लाभ उठाने का आह्वान करते हैं।'

<