logo
सोनाली फोगाट को पिलाया गया था नशीला पदार्थ, जिससे बिगड़ी तबीयत और ... !
पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हत्या के पीछे की वजह ‘आर्थिक हित’ हो सकता है
 
दोनों आरोपी पेय पदार्थ में ‘कुछ रासायनिक पदार्थ’ मिलाते देखे गए थे, जिसे अंजुना के रेस्तरां में हुई पार्टी में फोगाट को पिलाया गया

पणजी/भाषा। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की नेता सोनाली फोगाट के ड्रिंक में उनके दो सहयोगियों ने एक पार्टी के दौरान नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाया था। संभवतः इसके चलते फोगाट की मौत हुई। यह दोनों फोगाट ‘हत्याकांड’ में आरोपी हैं। गोवा पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हत्या के पीछे की वजह ‘आर्थिक हित’ हो सकता है।

पुलिस महानिरीक्षक ओमवीर सिंह बिश्नोई ने बताया कि दोनों आरोपी पेय पदार्थ में ‘कुछ रासायनिक पदार्थ’ मिलाते देखे गए थे, जिसे अंजुना के रेस्तरां में हुई पार्टी में फोगाट को पिलाया गया।

हिरासत में लिए गए आरोपी सुधीर सांगवान और सुखविंदर सिंह 22 अगस्त को फोगाट के साथ गोवा गए थे।

बिश्नोई ने बताया कि आरोपियों ने पुलिस पूछताछ के दौरान उत्तरी गोवा में अंजुना के रेस्तरां में फोगाट को जानबूझकर नशीला पदार्थ पिलाने की बात स्वीकार की है। यह घटना 22-23 अगस्त की मध्यरात्रि की है।

उन्होंने कहा कि दोनों आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा। पुलिस अधिकारी ने कहा कि 23 अगस्त को तड़के 4रू30 बजे दोनों आरोपी फोगाट को प्रसाधन कक्ष (वॉशरूम) ले गए थे, जहां तीनों लोग दो घंटे तक अंदर ही रहे थे।

बिश्नोई ने कहा कि हिरासत में पूछताछ के बाद ही यह पता चल पाएगा कि उन दो घंटे के दौरान क्या हुआ था। उन्होंने कहा कि पार्टी के दौरान आरोपियों के साथ दो महिलाएं भी थीं और इन्हें केक काटते देखा गया था।

पुलिस महानिरीक्षक ने कहा कि दोनों महिलाओं से भी पूछताछ की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में फोगाट के शव पर ‘चोट के कई निशान’ होने से जुड़े सवाल पर बिश्नोई ने कहा कि आरोपियों ने पूछताछ में कहा है कि फोगाट को अस्पताल ले जाने के दौरान खंरोच लगने के कारण ऐसा हो सकता है।

उन्होंने कहा कि फोगाट को अस्पताल ले जाने पर उनके शरीर पर चोट के कोई निशान नजर नहीं आ रहे थे इसलिए चिकित्सकों ने संदेह जताया था कि मौत का कारण दिल का दौरा पड़ना हो सकता है।

बिश्नोई ने कहा कि ऐसा जान पड़ता है कि फोगाट की मौत नशीले पदार्थ के कारण हुई है।

बिश्नोई ने कहा कि पुलिस उन टैक्सी चालकों का भी बयान दर्ज करेगी जिनमें से एक फोगाट को रेस्तरां से होटल लेकर आया था और दूसरा फोगाट को अस्पताल लेकर गया था।

गोवा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में फॉरेंसिक विशेषज्ञों द्वारा बृहस्पतिवार सुबह फोगाट के शव का पोस्टमार्टम किए जाने के बाद अंजुना पुलिस ने ‘‘अप्राकृतिक मौत’’ के मामले में हत्या का आरोप जोड़ा था और बताया था कि रिपोर्ट में उनके शरीर पर ‘‘गहरी चोट के कई निशान’’ होने की बात कही गई है।

टिकटॉक ऐप से शोहरत हासिल करने वाली हरियाणा के हिसार जिले की भाजपा नेता फोगाट 22 अगस्त को सांगवान और सिंह के साथ गोवा आईं और अंजुना में एक होटल में ठहरी थीं। तबियत ठीक न लगने की शिकायत के बाद 23 अगस्त को सुबह उन्हें सेंट एंथनी अस्पताल ले जाया, लेकिन वहां पहुंचने से पहले ही उनकी मौत हो चुकी थी। चिकित्सकों ने तब दिल का दौरा पड़ने के कारण उनकी मौत होने की आशंका जताई थी।

<