logo
पाइप लाइन बिछाने के दौरान मिट्टी ढही, 2 मजदूरों की मौत
बचाव और पुलिस के जवानों के पहुंचने के दो घंटे बाद ही दोनों शव निकाले जा सके
 
सत्तूर में करीब एक हफ्ते से बारिश नहीं हुई, इसलिए मिट्टी ढहने का कारण स्पष्ट नहीं है

विरुधुनगर/दक्षिण भारत। तमिलनाडु के विरुधुनगर में ठेके पर काम करने वाले दो मजदूर मिट्टी ढहने से दब गए। वे भूमिगत पाइप लाइन बिछा रहे थे। घटना रविवार देर रात की है, जब ये साथी मजदूरों संग खुदाई कर रहे थे। मृतकों की पहचान शक्तिवेल (42) और कृष्णन (59) के रूप में हुई है। दोनों कल्लाकुरिची के चिन्नासलेम निवासी थे।

सत्तूर पुलिस ने कहा कि साइट पर जेसीबी मशीन भी थी। इसके द्वारा काम के दौरान रेत को साफ किया जा रहा था। सत्तूर में करीब एक हफ्ते से बारिश नहीं हुई, इसलिए मिट्टी ढहने का कारण स्पष्ट नहीं है। घटना के संबंध में आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 174 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। मामले की जांच की जा रही है।

घटना के बाद रात करीब एक बजे सूचना मिली तो दमकल और बचावकर्मी मौके पर पहुंचे। अधिकारियों ने बताया कि जब वे पहुंचे तो पता चला कि शक्तिवेल और कृष्णन लगभग आठ फीट नीचे दब गए हैं।

बचाव और पुलिस के जवानों के पहुंचने के दो घंटे बाद ही दोनों शव निकाले जा सके। उन्हें पोस्टमॉर्टम के लिए विरुधुनगर मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेज दिया गया है।

रिपोर्टों के अनुसार, विरुधुनगर में भूमिगत जल निकासी पाइपलाइन-बिछाने के काम के लिए आंध्र प्रदेश की एक निजी कंपनी द्वारा 35 संविदा कर्मचारियों को नियुक्त किया गया था। सत्तूर के मुकरुंडाथल इलाके में शक्तिवेल और कृष्णन समेत सात मजदूर काम कर रहे थे।

<