logo
कल्याण कर्नाटक क्षेत्र के लिए बजट में 3,000 करोड़ रुपए निर्धारितः बोम्मई
बोम्मई ने कहा कि राज्य सरकार उद्योगों को इस क्षेत्र में अपनी इकाइयां स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि कल्याण कर्नाटक को बाकी राज्य की तरह विकसित होना चाहिए

कलबुर्गी/दक्षिण भारत। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने शनिवार को कहा कि कल्याण कर्नाटक क्षेत्र के लिए बजट में अलग रखी गई 3,000 करोड़ रुपए की धनराशि राज्य के इस हिस्से के विकास में मदद करेगी।

कल्याण कर्नाटक क्षेत्र में अमृत महोत्सव के अवसर पर झंडा लहराने के बाद संबोधित करते हुए बोम्मई ने कहा कि राज्य सरकार उद्योगों को इस क्षेत्र में अपनी इकाइयां स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है।

बोम्मई ने कहा, ‘संविधान के अनुच्छेद 371 में संशोधन के परिणामस्वरूप पहली बार कल्याण कर्नाटक विकास बोर्ड को इस सरकार ने संपूर्ण धन जारी किया है। जैसा कि पहले वादा किया गया था, राज्य के बजट में 3,000 करोड़ रुपए निर्धारित किए गए हैं, चार महीने के भीतर कार्य योजना को मंजूरी दी गई है और कई योजनाएं शुरू की गई हैं।’

उन्होंने लोगों से कल्याण कर्नाटक क्षेत्र के विकास के लिए राजनीति को अलग रखने की भी अपील की, जिसे पहले हैदराबाद-कर्नाटक क्षेत्र के रूप में जाना जाता था।

क्षेत्र के लिए परियोजनाओं को सूचीबद्ध करते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा कि मौजूदा बीदर-बल्लारी सड़क को चार लेन एक्सप्रेस हाईवे बनाया जाएगा तथा रायचूर और बल्लारी में हवाईअड्डे के निर्माण के लिए उपाय किए जाएंगे।

बोम्मई ने कहा, ‘बीदर से बल्लारी तक प्रस्तावित एक्सप्रेस हाईवे कल्याण कर्नाटक क्षेत्र में सड़क संपर्क को बेहतर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। रायचूर और बेल्लारी में हवाईअड्डों के निर्माण के लिए कदम उठाए गए हैं। केंद्र सरकार की सहायता से यादगीर, रायचूर और कलबुर्गी को कवर करते हुए रिंग रोड प्रस्तावित की गई है।’

बोम्मई ने यह भी बताया कि केंद्र सरकार ने कलबुर्गी में कपड़ा पार्क स्थापित करने का निर्णय लिया है और राज्य सरकार ने रायचूर और विजयपुरा में कपड़ा पार्क स्थापित करने का संकल्प लिया है।

उन्होंने कहा कि ये औद्योगिक क्लस्टर लगभग 25,000 नौकरियां पैदा करेंगे और यह योजना जल्द ही शुरू की जाएगी।

बोम्मई ने कहा, बल्लारी में ‘जींस पार्क’ और यादगीर में फार्मास्युटिकल क्लस्टर स्थापित किया गया है, जबकि कोप्पल में टॉय क्लस्टर का निर्माण शुरू हो चुका है।

बोम्मई ने कहा कि पेट्रोलियम उत्पादों पर आधारित सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ पेट्रोकेमिकल्स इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (सीआईपीईटी) को केंद्र की सहायता से 90 करोड़ रुपए की लागत से बीदर में स्थापित किया जाएगा।

बोम्मई ने कहा कि इसके अलावा राज्य सरकार कल्याण कर्नाटक क्षेत्र में 2,500 आंगनवाड़ी केंद्र और 2,100 नए क्लास रूम शुरू करेगी।

यहां एक अन्य समारोह में मुख्यमंत्री ने क्षेत्र में स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे के उन्नयन के बारे में बात की और कहा कि 68 नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) स्थापित किए जाएंगे, जबकि 14 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के रूप में अपग्रेड किया जा रहा है।

उन्होंने यह भी बताया कि सरकार इस क्षेत्र के सर्वांगीण विकास के लिए दीर्घकालिक योजनाएं और अन्य कार्यक्रमों पर गंभीरता से विचार कर रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कल्याण कर्नाटक को बाकी राज्य की तरह ही विकसित होना चाहिए।

बोम्मई ने कहा, ‘अधिकारियों को ईमानदारी से काम करना चाहिए। राजनीतिक हस्तक्षेप इस क्षेत्र के लिए बहुत बड़ा अन्याय करने जैसा है। भाजपा सरकार ने 100 करोड़ रुपए दिए हैं और वाईफाई कनेक्शन, केबल कनेक्शन और अन्य उन्नत सुविधाएं प्रदान करके कलबुर्गी को अंतरराष्ट्रीय शहर जैसा बनाने का संकल्प लिया है।’

<