logo
बेलगावी में शांति बाधित करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे: बोम्मई
बोम्मई ने पत्रकारों से कहा, 'हम राज्य में कानून-व्यवस्था बिगाड़ने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई शुरू करेंगे'
 
'इस बार निर्णायक कार्रवाई की जाएगी ताकि बदमाश अपनी गतिविधियां जारी न रख सकें'

बेलगावी/भाषा। कर्नाटक के बेलगावी में 19वीं सदी के योद्धा संगोली रायन्ना की प्रतिमा को विरूपित करने को लेकर उपजे तनाव के बीच मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने सोमवार को कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था बिगाड़ने वाले शरारती तत्वों के खिलाफ ‘सख्त कार्रवाई’ की जाएगी।

बोम्मई ने पत्रकारों से कहा, 'हम राज्य में कानून-व्यवस्था बिगाड़ने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई शुरू करेंगे। इस बार निर्णायक कार्रवाई की जाएगी ताकि बदमाश अपनी गतिविधियां जारी न रख सकें।'

पिछले हफ्ते महाराष्ट्र की सीमा से लगे बेलगावी में शरारती तत्वों द्वारा संगोली रायन्ना की प्रतिमा को विरूपित करने के बाबत पूछे गए सवाल के जवाब में बोम्मई ने कहा कि पुलिस ने मामले से जुड़े सभी मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा, 'पिछली सरकारें ऐसा कभी नहीं करती थी। हम उन सभी को नियंत्रित कर रहे हैं।'

इस बीच, विभिन्न कन्नड़ संगठनों ने सोमवार को बेलगावी के ‘हायर बागवाड़ी’ में राष्ट्रीय राजमार्ग-चार को अवरुद्ध कर विरोध प्रदर्शन किया। यहीं पर सुवर्ण विधान सौध स्थित है।

प्रदर्शनकारी बड़ी संख्या में कर्नाटक के विभिन्न हिस्सों से बेलगावी पहुंचे थे। वे मंत्रियों और विधायकों को रोकते हुए देखे गए, जो सुवर्ण विधान सौध जा रहे थे, जहां विधानमंडल का सत्र चल रहा है।

उनकी मांग है कि महाराष्ट्र एकीकरण समिति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए और उसे प्रतिबंधित किया जाए। प्रतिमा विरूपित करने की घटना के पीछे कथित रूप से इसी समिति के सदस्य हैं।

आंदोलन की अगुवाई करने वाले कर्नाटक रक्षा वेदिके के प्रवीण शेट्टी ने महाराष्ट्र एकीकरण समिति कार्यकर्ताओं को तड़ीपार करने की मांग की।

देश-दुनिया के समाचार FaceBook पर पढ़ने के लिए हमारा पेज Like कीजिए, Telagram चैनल से जुड़िए