logo
डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया, मुर्दाघर में 'ज़िंदा' हो गया मरीज़!
इसके बाद कर्मचारियों ने व्यक्ति के जिंदा होने की पुष्टि की
 
सोशल मीडिया पर जारी कुछ वीडियो में दो लोगों को अस्पताल के बाहर एक पीले रंग के बड़े से बैग के साथ देखा गया

बीजिंग/भाषा। शंघाई में एक वरिष्ठ नागरिक को गलती से मृत घोषित करने के बाद उसके शव को मुर्दाघर में भेज दिया गया लेकिन वहां उसके जीवित होने का पता चला। इसके बाद शहर में लॉकडाउन के बीच लोगों में इस घटना को लेकर रोष है और अधिकारियों ने जांच शुरू कर दी है।

चीन में सोशल मीडिया पर जारी कुछ वीडियो में दो लोगों को शंघाई शिनचांगजेंग अस्पताल के बाहर रविवार को एक पीले रंग के बड़े से बैग के साथ देखा गया। दोनों मुर्दाघर के कर्मचारी लग रहे थे। दोनों अस्पताल के एक कर्मचारी के सामने बैग को खोलकर यह कहते सुने जा सकते हैं कि यह आदमी जिंदा है। हांगकांग के साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट अखबार ने सोमवार को यह खबर प्रकाशित की।

इसके बाद कर्मचारियों ने व्यक्ति के जिंदा होने की पुष्टि की। इस घटना के बाद से शंघाई के लोगों में रोष है। शंघाई के स्थानीय प्रशासन को 2.6 करोड़ आबादी वाले शहर में ओमीक्रोन के संकट को सही से नहीं संभाल पाने के कारण आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है।

<