logo
आंखों में मिर्च पाउडर डालकर लूटे करोड़ों के जेवरात, पेटीएम पर एक लेनदेन से पकड़े गए!
घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है
 
आरोपियों की पहचान नजफगढ़ निवासी नागेश कुमार, शिवम और मनीष कुमार के रूप में हुई है

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। दिल्ली के पहाड़गंज इलाके में कथित तौर पर दो लोगों को लूटने के आरोप में पुलिस ने राजस्थान से तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। मामले का एक पहलू यह है कि आरोपियों को दबोचने में पेटीएम लेनदेन ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। दोनों ने आंखों में मिर्च पाउडर डालकर छह करोड़ रुपए के जेवरात लूट लिए थे।

आरोपियों की पहचान नजफगढ़ निवासी नागेश कुमार (28), शिवम (23) और मनीष कुमार (22) के रूप में हुई है। घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

वीडियो में पुलिस की वर्दी में दो लोगों को सड़क पर चलते हुए देखा जा सकता है। वे दो व्यक्तियों को रोकते हैं। इसी दौरान उनके साथ दो और युवक भी आ जाते हैं। वे उनकी आंखों में मिर्च पाउडर डालते हैं और पार्सल लेकर भाग जाते हैं। पुलिस को घटना की जानकारी बुधवार को मिली थी।

पुलिस ने बताया कि शिकायतकर्ता सोमवीर ने कहा कि वह चंडीगढ़ में एक पार्सल कंपनी में पार्सल डिलीवरी बॉय के रूप में काम करता है। बुधवार अलसुबह करीब 4.15 बजे वह अपने सहयोगी जगदीप सैनी के साथ पहाड़गंज स्थित ऑफिस से पार्सल लेकर डीबीजी रोड की ओर जा रहा था।

जब वे मिलेनियम होटल के पास पहुंचे तो उन्होंने वहां दो लोगों को मौजूद पाया। उनमें से एक ने पुलिस की वर्दी पहन रखी थी। उसने उनके बैग चेक करने के लिए कहा।

इसी दौरान दो और लोग आ गए। उनकी आंखों में मिर्च पाउडर डाल दिया और धमकी दी कि बैग उन्हें सौंप दो, नहीं तो जान से मार देंगे। पुलिस ने कहा कि आरोपियों ने उनके जेवरों के पार्सल लूट लिए और वहां से फरार हो गए।

जांच के दौरान, पुलिस ने पिछले सात दिनों के 700 से अधिक सीसीटीवी फुटेज की जांच की और घटनास्थल के आसपास की खुफिया जानकारी भी जुटाई थी। अधिकारी ने कहा कि घटनास्थल के पास चार लोगों की गतिविधियां संदिग्ध लगीं।

पुलिस उपायुक्त (मध्य) श्वेता चौहान ने कहा कि यह पाया गया कि आरोपी एक कैब चालक से बात कर रहे थे और उनमें से एक ने चाय के बदले पेटीएम के जरिए चालक के खाते में 100 रुपए ट्रांसफर किए थे।

उन्होंने कहा कि लेनदेन का विश्लेषण किया गया तो अपराधियों की पहचान नजफगढ़ के निवासी के रूप में हुई। पुलिस ने पाया कि आरोपी राजस्थान गए हुए थे। इसके बाद एक टीम जयपुर भेजी गई और तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया।

डीसीपी ने कहा कि उनके कब्जे से कुल 6,270 ग्राम सोना, तीन किलोग्राम चांदी, आईआईएफएल में जमा 500 ग्राम सोना और हीरे के आभूषणों के साथ 106 कच्चे हीरे, जिनकी कीमत 5.5 से छह करोड़ रुपए है, बरामद किए गए।

उन्होंने कहा कि लूट के मास्टरमाइंड नागेश ने अपने दोस्तों और मामा के साथ मिलकर वारदात को अंजाम देने की साजिश रची थी।

<