दीदी को सता रहा वोटबैंक का डर, इसलिए कर रहीं सीएए का विरोध: शाह

भाजपा की चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह। फोटो: भाजपा ट्विटर अकाउंट।
भाजपा की चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह। फोटो: भाजपा ट्विटर अकाउंट।

खारदा/दक्षिण भारत। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को ​पश्चिम बंगाल के खारदा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की चुनावी रैली को संबोधित करते हुए तृणमूल कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा।

शाह ने कहा कि बंगाल में दुर्गा पूजा करने के लिए उच्च न्यायालय की अनुमति चाहिए, क्या आप ऐसी सरकार चाहते हैं? बंगाल के स्कूलों में सरस्वती पूजा पर जो प्रतिबंध लगा दे, क्या आप ऐसी सरकार चाहते हैं?

शाह ने कहा कि बंगाल में घुसपैठ रुकनी चाहिए कि नहीं? क्या ममता दीदी रोक सकती हैं? क्या कम्युनिस्ट और कांग्रेस रोक सकती हैं? ये सब क्या घुसपैठ रोकेंगे, इनका तो वोटबैंक घुसपैठिए हैं।

शाह ने कहा कि दीदी सीएए का विरोध इसलिए कर रही हैं, क्योंकि उन्हें अपने वोटबैंक का डर है। मगर दीदी, हम भाजपा वाले वोटबैंक नहीं मानते हैं, इस देश के जो भी नागरिक है, वही हमारा वोटबैंक है।

शाह ने कहा कि बंगाल की जनता को भतीजा कल्याण वाली दीदी चाहिए या देशभर के गरीबों का कल्याण करने वाली मोदी सरकार चाहिए? ममता दीदी के लिए अपना भतीजा ही सर्वस्व है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए 130 करोड़ की जनता ही परिवार है। यही अंतर है भाजपा और तृणमूल कांग्रेस सरकार में।

शाह ने कहा कि सोनार बांग्ला के आर्थिक पुनरुत्थान के लिए हम टास्क फोर्स बनाएंगे। हम इन्वेस्ट बांग्ला की भी स्थापना करने वाले हैं। हर घर में शुद्ध पीने का पानी पहुंचे, इसके लिए हमने अपने संकल्प पत्र में 10,000 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है।