logo
एनआईए की छापेमारी खुफिया सूचनाओं के आधार पर, अल्पसंख्यकों के खिलाफ कार्रवाई नहींः अरागा ज्ञानेंद्र
गृह मंत्री ने चेतावनी भी दी कि जो लोग कानून अपने हाथ में लेंगे, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी
 
देशभर में पीएफआई नेताओं के खिलाफ बहु-एजेंसी छापे खुफिया इनपुट पर आधारित हैं

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। कर्नाटक के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने गुरुवार को कहा कि एनआईए की छापेमारी खुफिया सूचनाओं पर आधारित है। इसे अल्पसंख्यकों के खिलाफ कार्रवाई नहीं माना जाना चाहिए।

उन्होंने राज्य में कार्रवाई के बारे में पत्रकारों को जानकारी दी। इस दौरान उन्होंने कहा कि एनआईए और ईडी ने संयुक्त रूप से कर्नाटक में कई जगहों पर छापेमारी की है।

उन्होंने बताया कि देशभर में पीएफआई नेताओं के खिलाफ बहु-एजेंसी छापे खुफिया इनपुट पर आधारित हैं। वे (अधिकारी) उपलब्ध ठोस सबूतों के आधार पर काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि वे सभी लोगों से अनुरोध करते हैं कि एजेंसियों के संबंधित अधिकारियों से सहयोग करें।

गृह मंत्री ने चेतावनी भी दी कि जो लोग कानून अपने हाथ में लेंगे, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि इन छापों के खिलाफ पीएफआई समर्थकों द्वारा नारेबाजी और विरोध प्रदर्शन की ख़बरें हैं।

<