वायरल वीडियो से लिया गया चित्र
वायरल वीडियो से लिया गया चित्र

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो में देखा गया कि एमएस रामैया अस्पताल के 108 एंबुलेंस चालक को कोरोना से जान गंवाने वाले व्यक्ति के परिवार के सदस्य द्वारा पीटा गया। कोरोना पीड़ित 75 वर्षीय व्यक्ति को गुरुवार अपराह्न 3.15 बजे कथित तौर पर मृत अवस्था में ही अस्पताल लाया गया था।

इस संबंध में अस्पताल ने बयान जारी कर बताया कि परिवार के सदस्यों ने चालक पर हमला किया, तो उसने अस्पताल परिसर में प्रवेश किया। इसके बाद पुलिस को बुलाया गया और मामला सुलझाया गया।

अस्पताल के अध्यक्ष नरेश शेट्टी ने बताया कि चालक ने कोविड वार्ड में प्रवेश किया था। हमला वार्ड के डॉक्टरों की मौजूदगी में हुआ था। उन्होंने बताया कि इस मुद्दे ने डॉक्टरों को चिंता में डाल दिया है और उन्हें परामर्श दिया गया है। उन्होंने अपनी सुरक्षा की कमी का मुद्दा उठाया है।

वहीं, चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. के सुधाकर ने इस मुद्दे पर ट्वीट किया। उन्होंने कहा, ‘एमएस रामैया अस्पताल में एक मरीज की प्रतीक्षा करते हुए एंबुलेंस में 75 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत हो गई, यह सुनकर वास्तव में दुख हुआ। सरकार मृतकों की संख्या को कम करने की कोशिश कर रही है। अगर अस्पताल के कर्मचारियों ने उसे जल्द भर्ती कर लिया होता, तो उसकी मृत्यु नहीं होती। मुद्दा चाहे जो भी हो, यह स्वीकार्य नहीं है।’