कार्यक्रम में अतिथियों का किया गया सम्मान
कार्यक्रम में अतिथियों का किया गया सम्मान

नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति की दूसरी अर्धवार्षिक बैठक और प्रशस्ति वितरण समारोह

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। सार्वजनिक उपक्रमों की नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति की दूसरी अर्धवार्षिक बैठक एवं शील्ड वितरण कार्यक्रम बुधवार को बीईएल अफ्सर क्‍लब में हुआ। बैठक की अध्यक्षता बीईएल अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक एवं नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति (उपक्रम) के अध्यक्ष एमवी गौतम ने की। बैठक की मुख्य अतिथि भाप्रसे नियंत्रक विजयलक्ष्मी बिदरी थीं।

इस अवसर पर बीईएल विद्यालय अध्यापिका ने प्रार्थना एवं दीप प्रज्वलन के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ किया। एचएल उपप्रबंधक (राजभाषा) डॉ. गोपालकृष्ण ने अतिथियों का स्वागत किया। इसके बाद क्षेत्रीय कार्यान्वयन कार्यालय के उपनिदेशक कुमार पाल शर्मा ने अर्धवार्षिक रिपोर्ट की समीक्षा की।

बैठक में प्रबंधक (राजभाषा) जेआर गोपालकृष्णन ने संक्षित रिपोर्ट प्रस्तुत की। प्रभारी सहायक निदेशक दामोदरन एमपी ने हिंदी प्रशिक्षण से संबंधित पाठ्यक्रम एवं कक्षा संचालन के बारे में अवगत कराया।

परामर्श समिति सदस्य रंगनाथाचार ने पुरस्कार मूल्यांकन के बार में अर्थ निर्वचन किया और पुरस्कृत कार्यालयों के निष्पादन तथा प्रयासों के बारे में अभिमत व्यक्त किया। सचिव डॉ. गोपालकृष्ण एचएल ने उपस्थित सदस्य कार्यालयों के प्रधान एवं अध्यक्ष की अनुमति से चर्चा की।

कार्यक्रम में प्रशस्ति वितरण के दौरान बड़े एवं छोटे कार्यालयों की श्रेणी में विजेता सदस्यों को मुख्य अतिथि तथा अध्यक्ष द्वारा शील्ड और प्रमाणपत्र के साथ सम्मानित किया गया। इसके अलावा सदस्य कार्यालयों द्वारा प्रकाशित उत्कृष्ट गृह पत्रिका को भी शील्ड व प्रमाणपत्र से समानित किया गया।

मुख्य अतिथि ने अपने संबोधन में कहा कि राजभाषा के प्रचार-प्रसार के प्रति लक्षित अभिनव प्रयास प्रशंसा के पात्र हैं। उन्होंने ऐसे प्रयासों को जारी रखने का आह्वान किया। कार्यक्रम में केएम शिवकुमारन, निदेशक (मा.सं.) एवं कार्यकारी अध्यक्ष ने सभी पुरस्कार विजेता कार्यालयों का अभिनंदन किया।

एमवी गौतम ने अपने अध्यक्षीय भाषण में कहा कि समिति राजभाषा की प्रगति तथा भाषा की उन्नति के लिए सुस्थापित और प्रतिबद्ध है। कार्यक्रम का संचालन नारायण साव, मुख्य प्रबंधक (राजभाषा), पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लि. द्वारा किया गया। मनोज कुमार साव, भारती खाद्य निगम, क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा धन्यवाद प्रस्तुत किया गया।