प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay
प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay

बीजिंग/दक्षिण भारत। चीन में एक सरकारी बैंक के पूर्व प्रमुख के खिलाफ भ्रष्टाचार मामले में कड़ी कार्रवाई की गई है। उसे आजीवन कारावास की सजा हुई है। चीनी अदालत ने यह फैसला ऐसे समय में सुनाया है जब एक अन्य मामले में मंगलवार को ही एक सरकारी वित्तीय संस्थान हुआरोंग के पूर्व अध्यक्ष लाई शाओमी के लिए रिश्वत मामले में मृत्युदंड की घोषणा की गई है।

स्थानीय मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, चेंगदे अदालत ने हु हुआएबांग के लिए आजीवन कारावास का फैसला सुनाया जो करीब 97 करोड़ रुपए की रिश्वत लेने का दोषी है। उसने यह रिश्वत साल 2009 से 2019 के बीच ली थी।

यही नहीं, हु कम्युनिस्ट पार्टी का सचिव भी रह चुका है। वह चीन विकास बैंक से जुड़ा रहा है। उसे सजा सुनाते हुए अदालत ने कहा कि वह बहुत नरमी बरत रही है। चूंकि हु ने अपना गुनाह कबूल कर लिया और उससे रिश्वत की रकम वसूल कर ली गई है।

बता दें कि चीन में भ्रष्टाचार के मामलों में दोषी पाए जाने के बाद अपराध की प्रकृति के आधार पर मृत्युदंड तक दे दिया जाता है। मंगलवार को आया लाई शाओमी के रिश्वत कांड से जुड़ा फैसला इसका ताजा उदाहरण है। यदि यह अधिकारी अपने समस्त कानूनी विकल्पों को आजमा लेता है और फैसले में कोई बदलाव नहीं होता है, तो उसे मृत्युदंड दे दिया जाएगा।