logo
अफगानिस्तान: काबुल मस्जिद बम धमाके में 50 से ज्यादा नमाजियों की मौत, दर्जनों घायल
एक स्थानीय निवासी ने कहा कि उन्होंने घायल लोगों को एम्बुलेंस में ले जाते देखा है
 
स्थानीय अस्पताल के सूत्रों की मानें तो उनके पास कम से कम 66 शव पहुंच चुके थे

काबुल/दक्षिण भारत। काबुल की एक मस्जिद में जुमे की नमाज के दौरान शक्तिशाली बम धमाके में 50 से ज्यादा नमाजियों की मौत हो गई। गृह मंत्रालय के उप प्रवक्ता बेसमुल्लाह हबीब ने बताया कि राजधानी के पश्चिम में खलीफा साहिब मस्जिद में दोपहर को धमाका हुआ था। शुरू में 10 मौतों का आंकड़ा आया लेकिन जल्द ही विभिन्न रिपोर्टों में इस बात का दावा किया जाने लगा कि धमाके में 50 से ज्यादा लोग मारे गए हैं।

मस्जिद के प्रधान सैयद फाजिल आगा ने कहा कि आत्मघाती हमलावर यहां भीड़ में शामिल हुआ और उसने खुद को धमाके से उड़ा दिया। धमाके के बाद यहां काला धुंआ छा गया और और हर जगह शव थे। उन्होंने कहा कि मृतकों में उनके भतीजे भी शामिल हैं। वे खुद बच गए, लेकिन अपने प्रियजन को खो दिया।

एक स्थानीय निवासी ने कहा कि उन्होंने घायल लोगों को एम्बुलेंस में ले जाते देखा है। उन्होंने कहा, धमाका बहुत तेज था, मुझे लगा कि मेरे कान के पर्दे फट गए हैं।

स्थानीय अस्पताल के सूत्रों की मानें तो उनके पास कम से कम 66 शव पहुंच चुके थे। घायलों की संख्या 78 बताई गई है।

सत्ताधारी तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने एक बयान जारी कर धमाके की निंदा की और कहा कि अपराधियों को ढूंढ़ निकाला जाएगा, उन्हें दंडित किया जाएगा।

हाल के हफ्तों में बम धमाकों में बड़ी संख्या में अफगान नागरिक मारे जा चुके हैं। ज्यादातर आतंकी घटनाओं की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली है। मुख्यत: शिया मुस्लिम समुदाय इनके निशाने पर रहता है।

<