अप्रैल में जीएसटी संग्रह सर्वकालिक ऊंचाई 1.41 लाख करोड़ रुपए पर

फोटो स्रोत: PixaBay
फोटो स्रोत: PixaBay

नई दिल्ली/भाषा। कोरोना महामारी के बीच आ​र्थिक मोर्चे से राहत की खबर आई है। अप्रैल में जीएसटी संग्रह 1.41 लाख करोड़ रुपए के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया है। वित्त मंत्रालय ने शनिवार को यह जानकारी दी।

बताया गया कि यह इससे पिछले माह की तुलना में 14 प्रतिशत ज्यादा है। मार्च में राजस्व 1.23 लाख करोड़ रुपए था। वहीं, समीक्षाधीन महीने के दौरान घरेलू लेनदेन पर जीएसटी से राजस्व (सेवाओं के आयात सहित) पिछले महीने की तुलना में 21 प्रतिशत अधिक है।

इस संबंध में मंत्रालय ने जानकारी दी कि ‘जीएसटी राजस्व ने लगातार पिछले सात महीनों के दौरान न सिर्फ एक लाख करोड़ रुपए के स्तर को सफलतापूर्वक पार किया है, बल्कि इसमें लगातार वृद्धि भी दर्ज की है।’

मंत्रालय ने बताया कि यह इस दौरान लगातार आर्थिक स्थिति में सुधार का स्पष्ट संकेत है। नकली-बिलिंग की जांच के साथ ही जीएसटी, आयकर और सीमा शुल्क आईटी प्रणालियों जैसे विभिन्न स्रोतों से मिले आंकड़ों के सघन डेटा एनालिटिक्स का उपयोग और प्रभावी कर प्रशासन ने लगातार कर राजस्व बढ़ाने में योगदान दिया है।

मंत्रालय ने बताया कि देश के कई हिस्सों में महामारी की दूसरी लहर के बावजूद कारोबारियों ने रिटर्न दाखिल करने संबंधी जरूरतों का पालन करने के साथ ही समय पर जीएसटी बकाया का भुगतान करके उल्लेखनीय मजबूती दिखाई है।

उल्लेखनीय है कि अप्रैल 2021 में सकल जीएसटी राजस्व 1,41,384 करोड़ रुपए के स्तर पर रहा है। इसमें सीजीएसटी 27,837 करोड़ रुपए, एसजीएसटी 35,621 करोड़ रुपए, आईजीएसटी 68,481 करोड़ रुपए और उपकर 9,445 करोड़ रुपए सम्मिलित हैं।