वॉट्सऐप पर आए इस मैसेज पर आपने क्लिक तो नहीं किया!

वॉट्सऐप। फोटो स्रोत: PixaBay
वॉट्सऐप। फोटो स्रोत: PixaBay

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। कोरोना काल में अगर कोई मुफ्त तोहफा देना चाहे तो कौन इन्कार करेगा? लेकिन ऐसा ‘तोहफा’ आपको तगड़ा झटका देते हुए जेब काट सकता है! जी हां, इन दिनों वॉट्सऐप पर एक मैसेज खूब वायरल हो रहा है, जिसमें यह दावा किया जा रहा है कि दिग्गज ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी अमेजन लोगों को मुफ्त तोहफे बांट रही है। इसके साथ उस ​लिंक पर क्लिक करने के लिए उकसाया जाता है।

दरअसल अमेजन ऐसा कोई तोहफा नहीं बांट रही। शातिर ​ऑनलाइन ठग लोगों को तोहफे का झांसा देकर ललचा रहे हैं ताकि वे इस लिंक पर क्लिक करें। जैसे ही कोई इस लिंक पर क्लिक करता है, उसके मोबाइल फोन में एक ऐप डाउनलोड होने लगता है जिसमें वायरस है। यह ऐप आपके फोन को हैक कर सूचनाएं हैकरों तक पहुंचा सकता है।

इसकी मदद से हैकर बैंक खाते में सेंध लगाकर खाते से रुपया निकाल सकते हैं। इस तरह यह ऐप डाउनलोड करने वालों को भारी नुकसान पहुंचा सकता है। अगर इस मैसेज में दिए गए यूआरएल को ध्यान से देखें तो इसके शुरुआत में एक्सवाईजेड और बाद में अमेजन की स्पेलिंग के साथ एचजेड लिखा हुआ है। यह अमेजन का सही यूआरएल नहीं है। यहां पाठकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए फर्जी यूआरएल नहीं दिया जा रहा है।

बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब सोशल मीडिया के जरिए कोई फर्जी मैसेज फैलाया जा रहा है। आमतौर पर त्योहार या खास मौकों पर साइबर ठग लोगों की भावनाओं का दोहन करते हुए बहुत चालाकी से ऐसे मैसेज तैयार करते हैं जिनमें कोई वायरस होता है। ऐसा कोई मैसेज शेयर नहीं करें, उसे डिलीट करें। उनके खिलाफ रिपोर्ट करें ताकि इंटरनेट को ठगी का अड्डा बनाने वाले हतोत्साहित हों।