अवैध खनन को प्रोत्साहन दे रहे वन मंत्री को पद से हटाएं मुख्यमंत्री गहलोत: कांग्रेस विधायक

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत। फोटो स्रोत: सीएम का फेसबुक पेज।
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत। फोटो स्रोत: सीएम का फेसबुक पेज।

कोटा/भाषा। राजस्थान में सत्ताधारी दल के एक विधायक ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर, राज्य के वन मंत्री पर अवैध खनन का आरोप लगाते हुए उन्हें हटाने की मांग की है। गहलोत को सोमवार को लिखे पत्र में कांग्रेस विधायक भरत सिंह ने वन मंत्री सुखराम बिश्नोई पर राज्य में खनन माफिया को संरक्षण देने का आरोप लगाया है और उन्हें तत्काल पद से हटाने की मांग की है।

हालांकि विधायक ने अपने पत्र में मंत्री के विरुद्ध दावों की पुष्टि नहीं की है। सिंह ने लिखा, ‘राज्य के वन एवं पर्यावरण मंत्रालय के प्रमुख के लिए यह आवश्यक है कि वह अपने दायित्व और कर्तव्यों के प्रति गंभीरता का परिचय दें। यह दुखद है कि राज्य के वन मंत्री इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं।’

विधायक ने पत्र में दावा किया कि बिश्नोई ने कभी राज्य के वन, अभयारण्य और बाघ रिजर्व का दौरा नहीं किया। सिंह कोटा के सांगोड निर्वाचन क्षेत्र से विधायक हैं और उन्होंने मुख्यमंत्री से बिश्नोई को हटाकर किसी दूसरे योग्य व्यक्ति को मंत्री बनाने का आग्रह किया है।

राज्य के वन्यजीव बोर्ड के सदस्य सिंह ने मंगलवार को बातचीत के दौरान आरोप लगाया कि बिश्नोई और खनन मंत्री प्रमोद जैन भाया साथ मिलकर वन भूमि पर अवैध खनन को प्रोत्साहित कर रहे हैं और खनन माफिया को संरक्षण दे रहे हैं।