प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay
प्रतीकात्मक चित्र। फोटो स्रोत: PixaBay

नई दिल्ली/भाषा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि भारत में कोविड-19 के उपचाराधीन रोगियों की संख्या में भारी गिरावट देखी जा रही है। मृत्युदर में लगातार गिरावट और रोजाना बड़ी संख्या में लोगों के संक्रमण से उबरने के चलते बुधवार को लगातार छठे दिन संक्रमितों की कुल संख्या छह लाख से कम रही।

देश में इस वक्त कोरोना वायरस का इलाज करा रहे लोगों की कुल संख्या 5,33,787 है, जो अब तक सामने आए संक्रमण के कुल मामलों का 6.42 प्रतिशत है। ठीक हो चुके लोगों की कुल संख्या बढ़कर 76,56,478 हो गई है, जिसके चलते संक्रमण से उबरने की राष्ट्रीय दर 92 प्रतिशत से अधिक हो गई है।

मंत्रालय ने कहा कि असम, पंजाब, पश्चिम बंगाल, गुजरात, झारखंड, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और बिहार समेत 16 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में प्रति दस लाख लोगों की संक्रमण की दर राष्ट्रीय औसत के मुकाबले कम है।मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार बुधवार सुबह आठ बजे तक पिछले 24 घंटों के दौरान लगभग 53,357 लोग संक्रमण के उबरे हैं।

मंत्रालय ने कहा कि संक्रमण से उबरे नए लोगों में से 80 प्रतिशत लोग 10 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से हैं। केरल में एक दिन में सबसे अधिक 8 हजार से ज्यादा लोग संक्रमण से उबरे। दूसरे स्थान पर कर्नाटक है, जहां एक दिन में 7,000 से अधिक लोग ठीक हुए हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश की कोविड-19 जांच क्षमता तेजी से बढ़ी है। अब तक लगभग 11.3 करोड़ (11,29,98,959) लोगों की जांच की जा चुकी है। एक दिन में 12,09,609 लोगों की भी जांच की गई है। मंत्रालय ने कहा कि 25 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में प्रति दस लाख लोगों पर जांच की दर राष्ट्रीय औसत की तुलना में बेहतर है।

मंत्रालय के अनुसार संक्रमण के जितने नए मामले सामने आए हैं कि उनमें से 76 प्रतिशत मामले दस राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से सामने आए हैं। केरल और दिल्ली दोनों में एक दिन में सबसे अधिक 6-6 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। महाराष्ट्र में एक दिन में 4,000 से अधिक नए मामले सामने आए हैं।

मंत्रालय ने कहा कि एक दिन में 514 रोगियों की मौत हुई है। इनमें से लगभग 80 प्रतिशत लोगों की मौत दस राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में हुई है। महाराष्ट्र में सबसे अधिक 120 रोगियों की मौत हुई है। भारत में कोविड-19 मृत्युदर 1.49 प्रतिशत है। 21 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में प्रति दस लाख लोगों में से राष्ट्रीय औसत की तुलना में कम लोगों की मौत हुई है।