सांकेतिक चित्र
सांकेतिक चित्र

अहमदाबाद/भाषा। छतों पर पार्टी करते लोगों को पकड़ने से लेकर सड़कों पर खेलते युवाओं का पता लगाने में ड्रोन कैमरे गुजरात पुलिस की मदद कर रहे हैं ताकि कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए लागू किए गए बंद का सख्ती से पालन सुनिश्चित किया जा सके।

गांधीनगर के पुलिस उपाधीक्षक जीजी जसानी ने बताया कि बंद के दौरान लोगों के आवागमन पर नजर रखने के लिए राज्यभर में करीब 200 ड्रोन तैनात किए गए हैं।

अधिकारियों ने बताया कि ड्रोन की मदद से राज्यभर में 7,000 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिन्हें घर पर रहने के बजाय सड़कों पर घूमते पाया गया। उन्हें पुलिस की अधिसूचना का उल्लंघन करने के लिए भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत गिरफ्तार किया गया है।

अहमदाबाद जिला पुलिस उपाधीक्षक एस एच सारदा ने कहा, ‘अहमदाबाद ग्रामीण पुलिस भी सामाजिक दूरी बनाए रखने और बंद को सख्ती से लागू करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल कर रही है। ड्रोन की मदद से पकड़े जाने वाले औसतन 10 से 12 लोगों को रोजाना गिरफ्तार किया जा रहा है।’

उन्होंने कहा, ‘कुछ इलाकों में वाहनों से नियमित गश्त करना मुश्किल है। इसका लाभ उठाकर बवला कस्बे में कुछ युवाओं ने एक मैदान में वॉलीबॉल खेलना आरंभ कर दिया था। वे ड्रोन कैमरे में ऐसा करते कैद हो गए जिसके बाद उनमें से 11 लोगों को पकड़ लिया गया।’

पुलिस उपायुक्त प्रशांत सुम्बे ने बताया कि पुलिस ने सूरत में एक आवासीय इमारत की छत पर आयोजित हो रही ‘पकौड़ा पार्टी’ का ड्रोन की मदद से हाल में पता लगाया था। पुलिस ड्रोन को देखने के बाद लोगों के बेतहाशा भागने के कई वीडियो सोशल मीडिया मंचों पर वायरल हो रहे हैं।