बेंगलूरु/भाषा। विप्रो लिमिटेड, विप्रो एंटरप्राइजेज लिमिटेड और अजीम प्रेमजी फाउंडेशन ने कोरोना वायरस से पैदा हुए अभूतपूर्व स्वास्थ्य और मानवीय संकट से मुकाबला करने के लिए 1,125 करोड़ रुपए देने की बुधवार को प्रतिबद्धता जताई।

विप्रो और फाउंडेशन ने एक संयुक्त बयान में कहा कि ये संसाधन महामारी के खिलाफ लड़ाई की सीमा में समर्पित चिकित्सा और सेवा बिरादरी को सक्षम बनाने और इस महामारी के व्यापक मानव प्रभाव को कम करने में मदद करेंगे।

विप्रो लिमिटेड कंपनी 100 करोड़ रुपए देगी जबकि विप्रो एंटरप्राइजेज लिमिटेड 25 करोड़ रुपए और अजीम प्रेमजी फाउंडेशन 1,000 करोड़ रुपए देगा।

यह रकम विप्रो की वार्षिक सीएसआर गतिविधियों और अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के सामान्य जनकल्याणकारी खर्चों के अलावा है।

बयान में कहा गया है कि इन पहलों को संबंधित सरकारी संस्थानों के साथ सावधानीपूर्वक समन्वित किया जाएगा और इसे अज़ीम प्रेमजी फाउंडेशन की 1,600 लोगों की टीम द्वारा क्रियान्वित किया जाएगा। इसके अलावा देश के 350 से अधिक सामाजिक संगठन भी सहयोग करेंगे जिनकी देशभर में खासी मौजूदगी है।