भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी
भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। राष्ट्रीय राजधानी में सांप्रदायिक हिंसा फैलाने के गंभीर आरोपों से घिरे निगम पार्षद ताहिर हुसैन की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। दरअसल, आईबी अधिकारी अंकित शर्मा की हत्या मामले में भी शक की सुई ताहिर की ओर घूम रही है। पार्षद के घर से ​भारी मात्रा में पत्थर, गुलेल, पेट्रोल बम, तेजाब और दंगा फैलाने का सामान मिलने के बाद आम आदमी पार्टी ने उसे निलंबित कर दिया था।

अब भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट कर यह संदेह जताया है कि आईबी अधिकारी की हत्या मामले के तार ताहिर से होते हुए कहीं बांग्लादेश में बैठे आतंकियों से तो नहीं जुड़ रहे! उन्होंने कहा, ‘सरकार को यह साफ करने की जरूरत है कि आईबी अधिकारी अंकित शर्मा की हत्या ताहिर हुसैन के इशारों पर तो नहीं की गई, क्योंकि वे (शर्मा) बांग्लादेशी आतंकियों के साथ ताहिर हुसैन के संबंधों के तार ढूंढ़ रहे थे। अगर यह सच है तो यह एक बहुत गंभीर मामला है।’

उल्लेखनीय है कि अंकित शर्मा के पिता की शिकायत पर भारतीय दंड संहिता की धाराओं 365 और 302 के तहत ताहिर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। अंकित का शव चांद बाग इलाके में ताहिर के घर के पास स्थित एक नाले से बरामद हुआ था। उनके शरीर पर बड़ी संख्या में चाकू मारे जाने के निशान थे। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार, अंकित पर चाकुओं से इतनी बेरहमी के साथ वार किए गए थे कि उनकी आंतें भी बाहर निकल आईं।

https://platform.twitter.com/widgets.js

शव की यह हालत देखकर पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने कहा कि उन्होंने आज तक किसी के शरीर पर इतने घाव नहीं देखे। वहीं, स्थानीय लोगों में भी ताहिर के खिलाफ गुस्सा है और कई लोगों ने दावा किया कि उसके घर से पत्थर एवं पेट्रोल बम फेंके जा रहे थे। उधर, सोशल मीडिया पर अंकित की तस्वीरें शेयर कर लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी और सरकार से मांग की कि हत्यारों को कठोर दंड दिया जाए।

अंकित शर्मा
अंकित शर्मा

हालांकि, ताहिर हुसैन ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को खारिज किया है। उसने कहा, ‘मुझे खबरों से पता चला कि मुझ पर एक व्यक्ति की हत्या का आरोप लगाया जा रहा है। यह झूठ और निराधार है। हमारी सुरक्षा के लिए मेरा परिवार और मैं सोमवार को पुलिस की मौजूदगी में अपने घर से चले गए थे।’ परंतु घर की छत से मिला ‘तबाही का सामान’ कई सवाल जरूर खड़े करता है।