भाजपा महासचिव पी मुरलीधर राव प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए
भाजपा महासचिव पी मुरलीधर राव प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए

नई दिल्ली/भाषा। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बुधवार को कहा कि एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार कोरोना संकट सहित अन्य चुनौतियों से ‘बहुत कुशलता और संजीदगी’ से निपट रही है, वहीं दूसरी तरफ ऐसे समय में कांग्रेस के नेता गैर-जिम्मेदाराना सवाल उठा रहे हैं।

भाजपा महासचिव पी मुरलीधर राव ने यहां संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘इस संकट की घड़ी में विपक्ष को गरीबों के उत्थान के लिए हो रहे कार्यों में साथ देना चाहिए, सेवा में लगना चाहिए। लेकिन प्रतिपक्ष के नेता अपनी पार्टी के इतिहास के अनुसार गैर-जिम्मेदाराना प्रश्न करते रहते हैं। ये सब जनता देख रही है।’

उन्होंने कहा, ‘गैर-जिम्मेदार विपक्ष कैसा होता है, इसका नमूना कांग्रेस ने देश के सामने पेश किया है। जनसंघ और भाजपा से कांग्रेस को सीखना चाहिए था। हमने 1948, 1962, 1965 और 1971 के युद्धों के दौरान प्रतिपक्ष की तरह व्यवहार किया न कि सरकार के दुश्मन की तरह।’

भाजपा नेता ने कहा कि उनकी पार्टी ने कभी भी प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से दुश्मन देशों को मजबूती नहीं दी। उन्होंने कहा, ‘आज मोदी सरकार गरीबों के साथ-साथ देश के विकास और अर्थव्यवस्था का ध्यान रख रही है और दुनिया के समक्ष नेतृत्व का एक मॉडल पेश कर रही है।’

राव ने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी खुद को ‘वाइज मैन’ की तरह दर्शाने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन जनता ने उन्हें स्वीकार नहीं किया है। उन्होंने कहा, ‘उन्हें (राहुल गांधी) नेता के रूप में स्वीकार कर कांग्रेस का क्या हाल हुआ, आप सभी को पता है।’

भाजपा नेता कहा कि मोदी सरकार इस संक्रमण काल में जनता की जरूरतों को पहचानकर समाधान के रास्ते निकाल रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट की चुनौती का आज पूरा देश और संपूर्ण विश्व सामना कर रहा है और दुनिया के संकट के मुकाबले भारत का संकट कई गुना अधिक चुनौतीपूर्ण है।

उन्होंने कहा, ‘इस संकट काल में प्रधानमंत्री सामने से आकर देश का नेतृत्व कर रहे हैं। यह संकट संपूर्ण विश्व की आबादी के स्वास्थ्य और अर्थव्यवस्था पर बहुत ज्यादा प्रतिकूल असर डालने वाला है। मोदीजी के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने कोरोना संकट का गत महीनों में बहुत कुशलता और संजीदगी के साथ सामना किया है। सभी को साथ लेकर सरकार इस चुनौती से निपट रही है।’