महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

मुंबई/दक्षिण भारत। दुनियाभर में रामभक्तों को 5 अगस्त के उस शुभ मुहूर्त की प्रतीक्षा है जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर की आधारशिला रखेंगे। वहीं, महाराष्ट्र सरकार में सहयोगी पार्टी राकांपा ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को इशारों में ही ‘सुझाव’ दे दिया है कि वे इस कार्यक्रम से दूर रहें।

बताया गया है कि कार्यक्रम के लिए करीब 200 लोगों को आमंत्रण भेजा गया है, जिनमें सीएम ठाकरे का नाम भी है। इस पर राकांपा नेता माजिद मेमन ने ट्वीट कर ठाकरे को यह सलाह दे डाली कि वे अयोध्या में भूमिपूजन कार्यक्रम में शिरकत न करें।

बता दें कि मेमन ने ट्वीट किया है, ‘उद्धव ठाकरे राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए आमंत्रित (अतिथियों में से) हैं। वे अपनी व्यक्तिगत क्षमता में कोविड-19 संबंधी प्रतिबंधों का सम्मान करते हुए (कार्यक्रम में) भाग ले सकते हैं।’

ट्वीट के अगले हिस्से में वे सीएम ठाकरे को ‘सुझाव’ देते हैं, ‘एक धर्मनिरपेक्ष लोकतंत्र के प्रमुख को विशेष धार्मिक गतिविधि को बढ़ावा देने से बचना चाहिए।’

माजिद मेमन के इस ट्वीट पर कई यूजर्स ने आपत्ति जताते हुए सवाल दागे। उन्होंने पूछा है कि राम मंदिर की आधारशिला रखने संबंधी कार्यक्रम में शामिल होने से किसी की धर्मनिरपेक्षता को कैसे खतरा हो सकता है, श्रीराम हमारे आदर्श हैं। मेमन के ट्वीट के जवाब में कई यूजर्स ने राकांपा प्रमुख शरद पवार की पुरानी तस्वीरें पोस्ट कीं जिनमें वे इफ्तार पार्टी में नजर आ रहे हैं।