प्रतीकात्मक चित्र
प्रतीकात्मक चित्र

चेन्नई/भाषा। चेन्नई में कथित रूप से तत्काल ऋण मुहैया कराने वाला ऐप चलाने को लेकर दो चीनी नागरिकों समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस ने कहा कि यहां दाखिल शिकायत के आधार पर की गई जांच में पता चला है कि मुख्य आरोपी चीन से काम कर रहा है।

उन्होंने कहा कि दो भारतीय बेंगलूरु से कॉल सेंटर चला रहे थे और उन्होंने लोगों को ऑनलाइन माध्यम से तत्काल ऋण मुहैया कराने के लिए 100 से अधिक लोगों को काम पर रखा था।

पुलिस ने कहा कि हर कर्मचारी को एक सप्ताह में कम से कम 10 लोगों को तत्काल ऋण मुहैया कराने का काम दिया जाता था और ऐसा नहीं करने पर उन्हें काम से हटाने की धमकी दी जाती थी।

चीनी नागरिक दो भारतीयों की मदद से कॉल सेंटर चला रहे थे। चेन्नई के पुलिस आयुक्त महेश कुमार अग्रवाल के अनुसार, सभी को 31 दिसंबर, 2020 से 1 जनवरी, 2021 के बीच बेंगलूरु से गिरफ्तार किया गया।