कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार
कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार के परिसरों की सीबीआई तलाशी ले रही है। एक रिपोर्ट के अनुसार, इस कार्रवाई का संबंध कथित भ्रष्टाचार के मामले से है। बताया गया है कि सीबीआई की यह कार्रवाई उनके भाई और कांग्रेस सासंद डीके सुरेश के घर पर भी हुई है।

रिपोर्ट के अनुसार, इस तरह 14 परिसरों पर सीबीआई ने छापे मारे जिनमें शिवकुमार और उनके भाई के डोड्डालाहल्ली, कनकपुरा और सदाशिव नगर में स्थित परिसर शामिल हैं।

सीबीआई ने एक बयान में कहा, ‘कर्नाटक में नौ, दिल्ली में चार और मुंबई में एक – कुल 14 स्थानों पर तलाशी की जा रही है।’ सीबीआई ने डीके शिवकुमार, डीके सुरेश और अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

वहीं, ये पंक्तियां लिखे जाने तक सीबीआई अधिकारियों द्वारा 50 लाख रुपए बरामद किए जाने के समाचार हैं। अधिकारियों ने कहा कि तलाशी अभियान दिनभर जारी रह सकता है।

घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए, कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्दरामैया ने कहा, ‘भाजपा हमेशा से ही प्रतिहिंसात्मक राजनीति और जनता का ध्यान भटकाने की कोशिश में लिप्त रही है। केपीसीसी अध्यक्ष डीके शिवकुमार के घर पर सीबीआई छापे उपचुनावों के लिए हमारी तैयारी को पटरी से उतारने का एक और प्रयास है। मैं इसकी कड़ी निंदा करता हूं।’

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इसे भाजपा सरकार के ‘छापा राज’ और ‘कुटिल कदम’ की संज्ञा दी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘मोदी-येडियुरप्पा के डराने, धमकाने और कुचक्र के कपटपूर्ण खेल को कठपुतली सीबीआई द्वारा डीके शिवकुमार के परिसरों पर छापे मारकर अंजाम दिया जा रहा है, जिससे हम डरने वाले नहीं हैं। सीबीआई को येडियुरप्पा सरकार में भ्रष्टाचार की परतों को उजागर करना चाहिए। लेकिन ‘छापा राज’ ही उनका एकमात्र ‘कुटिल कदम’ है।’

उन्होंने कहा, ‘मोदी और येडियुरप्पा की सरकारें और सीबीआई-प्रवर्तन निदेशालय तथा आयकर विभाग जैसी भाजपा की सहयोगी संस्थाएं जानती हैं कि कांग्रेस कार्यकर्ता और नेता ऐसे कपटपूर्ण प्रयासों के सामने न तो हतोत्साहित होंगे और न ही झुकेंगे। जनता के लिए हमारी लड़ाई और भाजपा के कुशासन का पर्दाफाश करने का हमारा संकल्प और मजबूत ही होगा।’