कोरोना के ताजा मामले दूसरी लहर का संकेत नहीं: विशेषज्ञ

फोटो: PixaBay
फोटो: PixaBay

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। मेंगलूरु और बेंगलूरु में कॉलेजों और एक अपार्टमेंट परिसर में कोरोना के काफी मामले सामने आने के बाद विशेषज्ञों का कहना है कि इन मामलों को देखकर कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है।

उन्होंने कहा कि कुछ मामले कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की परिभाषा को छूते हैं लेकिन वर्तमान में इसे हम दूसरी लहर नहीं कह सकते हैं। दूसरी लहर के संक्रमण को देखने के लिए हमें कुछ और मामलों को देखना होगा।

वे कहते हैं कि कोरोना वायरस का व्यवहार इस बात पर निर्भर करता है कि लोगों में किस तरह के लक्षण दिखाई दे रहे हैं। फिलहाल हम महामारी के संक्रमण के निचले स्तर पर हैं।

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के जीनोम बदलने का पता लगाने वाली प्रयोगशालाएं अभी केंद्र से धन की प्रतीक्षा कर रही हैं। फंडिंग को अंतिम रूप देने के लिए 25 फरवरी को केंद्र के साथ बैठक होगी। इसके बाद प्रत्येक राज्य में 5% नियमित नमूने जीनोमिक अनुक्रमण के लिए भेजे जाएंगे।

गौरतलब है कि शहर के एक अपार्टमेंट को हाल में कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया था जहां से 103 लोगों में एक शख्स को अस्पताल में भर्ती कराया गया है वहीं बाकी लोगों को होम आइसोलेशन में रखा गया है। इनमें से कई लोग ऐसे भी थे जिनमें किसी तरह का कोई लक्षण नहीं था।