कर्नाटक: मुख्यमंत्री बदलने का संकेत देने वाले कथित ऑडियो क्लिप को कतील ने बताया फर्जी

फोटो स्रोत: नलिन कुमार कतील ट्विटर अकाउंट।
फोटो स्रोत: नलिन कुमार कतील ट्विटर अकाउंट।

‘येडियुरप्पा हमारी पार्टी की आत्मा, सर्वसम्मत नेता; ईश्वरप्पा और जगदीश शेट्टार दो आंखों की तरह हैं’

बेंगलूरु/भाषा। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष नलिन कुमार कतील ने उस ऑडियो क्लिप को फर्जी बताया है, जिसमें राज्य में नेतृत्व में संभावित बदलाव की बात की गई है।

यह ऑडियो क्लिप वायरल हो जाने से कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा (78) को बदले जाने की अटकलें फिर से लगने लगी हैं। येडियुरप्पा के कार्यकाल के 26 जुलाई को दो साल पूरे हो जाएंगे। येडियुरप्पा पिछले सप्ताह दिल्ली गए थे, जहां उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की थी। येडियुरप्पा के दिल्ली जाने के कारण अटकलें लगने लगी थीं कि नेतृत्व में परिवर्तन किया जा सकता है।

येडियुरप्पा ने दिल्ली से लौटने के बाद उन्हें मुख्यमंत्री पद से हटाए जाने की अटकलों को बेबुनियाद बताया था। हालांकि रविवार को ऑडियो क्लिप के सामने आने के बाद फिर से इन अटकलों को बल मिला है।

कतील ने इस क्लिप को फर्जी बताते हुए उसमें उनकी आवाज नहीं होने बात कही थी। कतील ने ऑडियो क्लिप की जांच की मांग की है। ऑडियो क्लिप में येडियुरप्पा के नाम के उल्लेख के बगैर सुनाई दे रहा है, ‘किसी को बताना मत… मंत्रियों ईश्वरप्पा, जगदीश शेट्टार की पूरी टीम हटाई जाएगी। हम नई टीम बना रहे हैं…।’

क्लिप में सुनाई दे रहा है, ‘(मुख्यमंत्री पद के लिए) तीन नाम हैं, लेकिन उन पर विचार नहीं किया जाएगा। उनका चयन दिल्ली से किया जाएगा।’

भाजपा की राज्य इकाई के पूर्व अध्यक्ष ईश्वरप्पा वर्तमान में ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज मंत्री हैं, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री शेट्टार येदियुरप्पा कैबिनेट में उद्योग मंत्री हैं।

कतील ने मंगलूरु में कहा, ‘मैं मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर उनसे पूरी जांच कराने की अपील करूंगा। जांच के जरिए सच सामने आने दीजिए। राजनीति में पहले भी इस प्रकार की कई घटनाएं हुई हैं। यह सही नहीं है। जांच होने दीजिए।’

उन्होंने दोहराया कि नेतृत्व में या पार्टी में किसी अन्य बदलाव को लेकर कोई बात नहीं हुई और इस प्रकार की चर्चा करना ‘अप्रासंगिक’ है।

कतील ने कहा, ‘येडियुरप्पा हमारी पार्टी की आत्मा हैं, वे सर्वसम्मत नेता हैं और हम सभी के वरिष्ठ हैं। उन्होंने कई साल के संघर्ष के बाद पार्टी को इस स्तर पर पहुंचाया है। उनके अलावा ईश्वरप्पा और जगदीश शेट्टार दो आंखों की तरह हैं। पार्टी और सरकार इन वरिष्ठ नेताओं के मार्गदर्शन में काम करेगी।’

उन्होंने कहा कि वह इस ऑडियो क्लिप के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराएंगे और सच्चाई जांच के बाद सामने आएगी। यह पूछे जाने पर कि क्या ऑडियो टेप में सुनाई दे रही आवाज उनकी आवाज से मिलती है, उन्होंने कहा, ‘मेरा इससे कोई लेना देना नहीं है। जांच के जरिए सच सामने आने दीजिए। मैं मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर जांच की मांग करूंगा। मैं जांच में सहयोग करूंगा।’

दिल्ली से आने के बाद येडियुरप्पा ने शनिवार को कहा था, ‘अब तक किसी ने मुझसे इस्तीफा देने के लिए नहीं कहा है। अगर ऐसी कोई खबर है, तो इसका कोई आधार नहीं है।’ येडियुरप्पा ने 26 जुलाई को अपने कार्यालय में दो साल पूरे होने के अवसर पर भाजपा विधायक दल की बैठक बुलाई है।