कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा
कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा

बेंगलूरु/भाषा। कारगिल युद्ध में पाकिस्तान पर मिली जीत की 21वीं वर्षगांठ के मौके पर शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि देते हुए कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा ने रविवार को कहा कि उनकी सरकार हमेशा सैनिकों और सीमा पर देश की रक्षा करते हुए शहादत देने वाले सैनिकों के परिवारों के साथ खड़ी है।

उन्होंने कहा, ‘सरकार हमेशा सैनिकों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। कर्नाटक ने सैनिकों और उनके परिवार के कल्याण के लिए अलग विभाग बनाया है। हम हमेशा शहीद सैनिकों के परिवारों के साथ खड़े हैं।’

राज्य के गृह विभाग के तहत आने वाले सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास विभाग द्वारा कारगिल विजय दिवस के मौके पर शहर के राष्ट्रीय सैन्य स्मृति उद्यान में आयोजित कार्यक्रम में कारगिल युद्ध के शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद वे सैनिकों को संबोधित कर रहे थे।

येडियुरप्पा ने कारगिल विजय दिवस को भारत की बहादुरी और बलिदान का प्रतीक बताया। कारगिल विजय दिवस 26 जुलाई, 1999 को पाकिस्तानी सेनाओं को कारगिल क्षेत्र से खदेड़कर भारतीय भू-भाग को सेना द्वारा पुन: कब्जे में लिए जाने की याद में हर साल आज के दिन मनाया जाता है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने कारगिल युद्ध में शहीद हुए सैनिकों के परिजनों और घायल सैनिकों को उचित आर्थिक सहायता दी। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘हमारे सैनिकों का बलिदान सदैव हमारी स्मृति में रहेगा। देश की रक्षा के लिए अपनी जिंदगी कुर्बान करने वाले 527 सैनिकों की वीरगाथा हमारे युवाओं के लिए सतत प्रेरणा का स्रोत है।’