सी-प्लेन से परवान चढ़ेगा पर्यटन, कर्नाटक ने केंद्र को भेजा प्रस्ताव

प्रतीकात्मक चित्र। स्रोत: PixaBay
प्रतीकात्मक चित्र। स्रोत: PixaBay

मेंगलूरु/दक्षिण भारत। कर्नाटक के 320 किलोमीटर लंबे तटीय बेल्ट को सी-प्लेन द्वारा जोड़ने के लिए पर्यटक सर्किट का प्रस्ताव केंद्र को भेजा गया है। यह जानकारी पर्यटन, पारिस्थितिकी और पर्यावरण मंत्री सीपी योगेश्वर ने दी है।

मंत्री ने कहा कि सी-प्लेन कर्नाटक के विभिन्न गंतव्यों तक पर्यटकों को आकर्षित करने में मदद करेगा। हालांकि निवेशक सी-प्लेन प्रोजेक्ट के लिए उत्सुक हैं, लेकिन राज्य में बुनियादी लैंडिंग सुविधाओं का अभाव है।

मंत्री ने कहा कि सी-प्लेन सेवाओं को पहले ही गुजरात में लॉन्च किया जा चुका है और एक बार इसी तरह की सेवा यहां शुरू की गई। जो लोग गोवा, मुंबई और केरल की यात्रा करना चाहते हैं, वे इस सुविधा का उपयोग कर सकते हैं।

मंत्री ने बताया कि तटीय बेल्ट में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए बुनियादी ढांचे को विकसित करने की आवश्यकता है। जल्द ही मैसूरु में एक हेली पर्यटन सेवा शुरू की जाएगी और क्रूज जहाजों द्वारा आने वाले विदेशी पर्यटकों के लिए मेंगलूरु में भी इसी तरह की सेवा पर जोर दिया जाएगा ताकि वे लक्षद्वीप और मेंगलूरु के अन्य पर्यटन स्थलों की यात्रा कर सकें।

उन्होंने कहा कि दक्षिण कन्नड़ और उडुपी जिलों में बैकवाटर का उपयोग खेलों को बढ़ावा देने के लिए किया जाएगा, जो रोजगार पैदा करेंगे और पर्यटन को बढ़ावा देंगे। केरल में अलपुझा की तर्ज पर गुरुपुरा नदी के बैकवाटर का 20 किलोमीटर लंबा इलाका विकसित किया जाएगा।