logo
सभी के साथ मिलकर कर्नाटक में भाजपा को सत्ता में वापस लाने का प्रयास करेंगे: बोम्मई
बोम्मई के स्वास्थ्य को लेकर भी कई अफवाहें आईं, जिसके बारे में मंगलवार को उन्होंने कहा था कि उनमें बिना आराम किए, 365 दिन तक अथक परिश्रम करने की ताकत है
 
उन्होंने कहा, ‘आलाकमान शुरू से ही बहुत स्पष्ट रहा है। वही स्पष्टता यहां अरुण सिंह ने व्यक्त की है। यह एक प्रकार की पुन: पुष्टि है।’

हुब्बली/भाषा। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने बुधवार को कहा कि वह अन्य नेताओं के साथ मिलकर 2023 के विधानसभा चुनाव में पार्टी को सत्ता में वापस लाने का प्रयास करेंगे।

राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की कर्नाटक इकाई के कार्यकारिणी के सदस्यों और राष्ट्रीय नेतृत्व से समर्थन मिलने के बाद मुख्यमंत्री ने यह बयान दिया।

ऐसा बताया जा रहा है कि हुब्बली में मंगलवार को शुरू हुई दो दिवसीय भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक के दौरान पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और कर्नाटक प्रभारी अरुण सिंह, केन्द्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी तथा कई नेताओं ने बोम्मई के प्रति अपना समर्थन व्यक्त किया और पार्टी के उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी दी, जो तमाम तरह की अफवाह फैलाने में शामिल हैं।

बोम्मई ने पत्रकारों से कहा, ‘मैं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व, राज्य इकाई के अध्यक्ष, पदाधिकारियों और राज्य कार्यकारिणी के सदस्यों का हमारी सरकार में विश्वास जताने और हमें आगे बढ़ने के लिहाज से प्रोत्साहित करने के लिए शुक्रिया अदा करता हूं।’

उन्होंने पत्रकारों से कहा कि वह, अन्य नेताओं के साथ मिलकर पार्टी को और मजबूत करने, और संगठित करने, पार्टी तथा सरकार के बीच प्रभावी समन्वय स्थापित करने, राजनीतिक चुनौतियों का सामना करने और आगामी चुनाव को लेकर नेतृत्व की अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए सामूहिक प्रयास करेंगे।

कुछ लोगों के विरोध के बावजूद आलाकमान से समर्थन मिलने के एक सवाल पर उन्होंने कहा, ‘आलाकमान शुरू से ही बहुत स्पष्ट रहा है। वही स्पष्टता यहां अरुण सिंह ने व्यक्त की है। यह एक प्रकार की पुन: पुष्टि है।’

गौरतलब है कि पिछले कुछ समय से राज्य में नेतृत्व परिवर्तन और 2023 में विधानसभा चुनाव से पहले बोम्मई को शीर्ष पद से हटाए जाने की अटकलें हैं। बोम्मई के स्वास्थ्य को लेकर भी कई अफवाहें आईं, जिसके बारे में मंगलवार को उन्होंने कहा था कि उनमें बिना आराम किए, 365 दिन तक अथक परिश्रम करने की ताकत है। उन्होंने कहा था, ‘मैंने एक दिन में कम से कम 15 घंटे काम करने का निर्णय किया है।’ बोम्मई ने इस साल 28 जुलाई को मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी।

देश-दुनिया के समाचार FaceBook पर पढ़ने के लिए हमारा पेज Like कीजिए, Telagram चैनल से जुड़िए