इजरायल का ध्वज
इजरायल का ध्वज

यरुशलम/एपी। इजरायल की सेना ने कहा है कि उसने गाजा में चरमपंथियों के ठिकानों पर रविवार सुबह टैंक से हमला बोला। ये हमले हमास संचालित क्षेत्र से लगातार विस्फोटकों से लदे गुब्बारे छोड़े जाने के जवाब में किए गए।

दोनों ही तरफ किसी के हताहत होने की तत्काल कोई जानकारी नहीं मिली है। लेकिन ये हिंसा ऐसे समय में हो रही है जब गाजा कोरोना वायरस के नए सिरे से प्रकोप का और खराब होती आर्थिक स्थितियों का सामना कर रहा है।

हमास से जुड़े समूहों ने हाल के कुछ हफ्तों में इजरायल में दाहक गुब्बारे छोड़े हैं जिससे बड़े पैमाने पर खेत जलकर खाक हो गए। इजराइल ने हवाई हमलों और अन्य हमलों के रूप में इस पर प्रतिक्रिया दी है। सेना ने कहा कि रविवार को टैंक से दागे गए गोलों ने दक्षिणी गाजा में हमास की ‘सैन्य चौकियों’ को निशाना बनाया।

हालिया हमलों के जवाब में, इजरायल ने गाजा के एकमात्र व्यावसायिक चौराहे को बंद कर दिया जिससे ईंधनों के अभाव के कारण उसका एकमात्र बिजली स्टेशन बंद हो गया और गाजा निवासियों को एक दिन में महज कुछ ही घंटों तक बिजली मिल रही है। इजरायल ने तटीय क्षेत्र के मछली पकड़ने वाले हिस्सों को भी बंद कर दिया।

हमास इजरायल को गाजा पर लगाए गए उसके अवरोधकों में ढील देने और बड़े स्तर की विकास परियोजनाओं को अनुमति देने का दबाव बना रहा है। मिस्र और कतर अनौपचारिक संघर्षविराम को मजबूत करने की कोशिश कर रहे हैं।