पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान.
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान.

बीजिंग/इस्लामाबाद/दक्षिण भारत। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और सेना प्रमुख से लेकर सांसद एवं अधिकारी अक्सर यह दावा करते हैं कि चीन उनका सबसे भरोसेमंद दोस्त है। पाक-चीन की दोस्ती हिमालय से भी ऊंची, सागर से भी गहरी और शहद से भी मीठी है। हालांकि, चीनी नेतृत्व को पाकिस्तान से कितनी गहरी मुहब्बत और अपनापन है, इसका अंदाजा आप एक वीडियो देखकर लगा सकते हैं जो पाकिस्तान के टीवी चैनल ने जारी किया है और ट्विटर पर खूब शेयर किया जा रहा है।

दरअसल, महामारी से बुरी तरह जूझ रहे पाकिस्तान ने चीन से मदद के तौर पर कुछ मास्क की मांग की थी। चीन ने मास्क भेज दिए लेकिन जब पाकिस्तानी अधिकारियों ने इनकी जांच की तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। ये मास्क अंडरवियर के कपड़े से बने हुए थे जो कोरोना जैसी महामारी में किसी भी तरह से मददगार साबित नहीं हो सकते।

चीन की इस हरकत पर पाकिस्तानी टीवी चैनल की एंकर कहती है, ‘अहम खबर से आपको आगाह करेंगे … चाइना ने चूना लगा दिया। एन-95 कहकर अंडरगारमेंट्स से बने मास्क भेज दिए। जी हां दर्शकों … चाइना ने चूना लगा दिया, ये मास्क सिंध सरकार को भेज दिए।’

https://platform.twitter.com/widgets.js

एंकर कहती है, ‘सिंध सरकार ने भी बिना देखे मास्क सदर अस्पताल पहुंचा दिए। डॉक्टर और पैरा-मेडिकल स्टाफ ने मास्क को मजाक करार दे दिया। इन मास्क में कोरोना वायरस को रोकने की क्षमता मौजूद नहीं … अंडरगारमेंट्स से बने मास्क मजाक बनकर रह गए।’ ट्विटर पर कई यूजर्स ने चीन की मंशा पर सवाल उठाते हुए उसे जमकर खरी-खोटी सुनाई। साथ ही आशंका भी जताई कि ये मास्क इस्तेमाल किए गए अंडरगारमेंट्स से भी बने हो सकते हैं, लिहाजा किसी को इनका उपयोग नहीं करना चाहिए।