हर संकट दूर करता है संकटमोचक पद्माावती स्तोत्र : साध्वी कुमुदलता

48
लाभार्थी का सम्मान

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। स्थानीय वीवीपुरम स्थित महावीर धर्मशाला में चातुर्मासार्थ विराजित साध्वी डॉ कुमुदलताजी के सान्निध्य में मां पद्मावती की आराधना के साथ 16 शुक्रवार आराधना महोत्सव का समापन हुआ। प्रारम्भ में साध्वीवृंद द्वारा श्रद्धालुओं को दिवाकर चालीसा का सामूहिक सस्वर उद्घोष कराया गया। पूर्णाहुति महोत्सव पर 23वें तीर्थंकर प्रभु पार्श्वनाथ की स्तुति रूपी महामंगलकारी उवसग्गहर स्तोत्र के सामूहिक जाप के साथ साध्वी मंडल द्वारा सभी श्रद्धालुओं को आराधना कराई गई। मॉं पद्मावती के चमत्कारों का उल्लेख करते हुए साध्वी कुमुदलताजी ने कहा कि मंत्रों का जाप करने से मनुष्य को आध्यात्मिक शक्ति प्राप्त होती है। मां पद्मावती का यह स्तोत्र संकटमोचक तथा प्रत्यक्ष प्रभावी है। निष्ठा और विधिपूर्वक जाप करने से इच्छित फल भी प्राप्त होता है। उन्होंने कहा कि साधना के पथ पर बढ़ते हुए साधक व्यक्ति को हर प्रकार की समृद्धि की प्राप्ति हो सकती है। साध्वी मंडल ने मॉं पद्मावती एकासन आराधना करने वाले सभी श्रद्धालुओं की अनुमोदना की । साध्वी पद्मकीर्ति जी व राजकीर्तिजी म सा ने मॉं पद्मावती एकासन आराधना की विधिवत साधना संपन्न करवाई। साध्वी महाप्रज्ञाजी ने मधुर गीतों के माध्यम से सभा को सम्बोधित किया। पूरे वर्षावास में लगभग 909 श्रावक-श्राविकाओं ने मॉं पद्मावती एकासन व्रत रखकर लाभ लिया। समिति की ओर से पद्मावती एकासन आराधना के लाभार्थी विमलादेवी गौतमचंद, कमलचंद मनोजकुमार भंडारी परिवार एवं रजत यंत्र के लाभार्थी आनंदकुमार ऋषभ गोलेछा परिवार तथा चातुर्मास में सेवा देनेवाले एवं अन्य अतिथियों का अभिनंदन वर्षावास समिति के चेयरमैन किरणचंद मरलेचा, महामंत्री चेतन दरड़ा, नथमल मुथा, गुलाबचंद पगारिया,रमेश सिसोदिया, ज्ञानचंद मुथा, महावीर धारीवाल, युवा अध्यक्ष राजेश गोलेछा, मंत्री किशोर बाफ़ना, उषा मुथा, मंजु लुंकड़ व अन्य समिति के पदाधिकारियों ने किया। इस अवसर पर समिति की ओर से प्रचार प्रसार चेयरमैन जंबुकुमार दुग्गड़ को आदर्श सेवा रत्न, प्रशांत पगारिया और निखिल रांका को आदर्श पुत्र एवं संजय दरड़ा को आदर्श भाई पुरस्कार से उनकी सेवाओं के लिए सम्मानित किया गया। 9 नवम्बर को दीक्षार्थी पायल जैन के संयोजन में सामूहिक गुरु गान प्रतियोगिता तथा 10 नवम्बर को सभी संत सतीवृंद के सान्निध्य में जैन दिवाकर चौथमलजी म सा के जन्मोत्सव तप त्याग व धर्म आराधना द्वारा मनाया जाएगा। धर्म सभा का संचालन अशोककुमार गादिया ने किया। आभार सहमंत्री अशोक रांका ने जताया।