करोड़ों रामभक्तों को प्रतीक्षा है कि अयोध्या में प्रभु श्रीराम का भव्य मंदिर शीघ्र बनकर तैयार हो।
करोड़ों रामभक्तों को प्रतीक्षा है कि अयोध्या में प्रभु श्रीराम का भव्य मंदिर शीघ्र बनकर तैयार हो।

लखनऊ/भाषा। विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय उपाध्यक्ष एवं श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने शुक्रवार को कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण समाज के सहयोग से साकार होगा और मंदिर निर्माण से लोगों को स्वेच्छा से जुड़ने का अभियान मकर संक्रांति से शुरू होकर माघ पूर्णिमा तक पूरा होगा।

चंपत राय ने यहां पत्रकारों से बातचीत करते हए कहा कि इस अभियान में चार लाख कार्यकर्ता शामिल होंगे जिनकी एक लाख से ज़्यादा टोलियां होंगी। राय ने कहा कि अभियान में 12 करोड़ परिवारों से संपर्क किया जाएगा जिसमें साधु-संत भी भाग लेंगे।

राय ने बताया, ‘तीन वर्ष में मंदिर निर्माण पूरा कर लिया जाएगा। मंदिर के वास्तु का दायित्व अहमदाबाद के चंद्रकांत सोमपुरा को दिया गया है, जबकि ‘लार्सन एंड टुब्रो’ कम्पनी को मंदिर निर्माण का कार्य दिया गया है और निर्माता कंपनी के सलाहकार के रूप में ट्रस्ट ने ‘टाटा कंसल्टेंट इंजीनियर्स’ को चुना है।’

राय ने कहा कि जमीन के नीचे 200 फुट तक भुरभुरी बालू पाई गई है और गर्भगृह के पश्चिम में कुछ दूरी पर ही सरयू नदी का प्रवाह है। इस भौगोलिक परिस्थिति में 1,000 वर्ष की आयु वाले पत्थरों के मंदिर का भार सहन कर सकने वाली मज़बूत नींव के संबंध में आईआईटी बंबई, आईआईटी दिल्ली, आईआईटी चेन्नई, आईआईटी गुवाहाटी, केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्थान, रुड़की, लार्सन टुब्रो व टाटा कंपनी के इंजीनियर आपस में परामर्श कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि जनसंपर्क में लाखों कार्यकर्ता गांव और मोहल्लों में जाएंगे। उन्होंने बताया कि कि पारदर्शिता बनाए रखने के लिए ट्रस्ट ने दस रुपए, सौ रुपए, एक हज़ार रुपए के कूपन व रसीदें छापी हैं।